स्पेक्टर को ऑडियंस और क्रिटिक्स से मिल रही है सराहना

स्पेक्टर रिलीज हो गई है। सामाजिक जागरूकता फैलाने वाली शॉर्ट फिल्म जैसे- द पॉवर, ए डार्क टेल, द पेरिल और कई फिल्मों की लोकल सफलता के बाद, ‘स्पेक्टर’ साइकोलॉजिकल टेरर को नई ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए तैयार है। दस मिनट की फिल्म में फिल्म मेकर और ज़ेन फिल्म प्रोडक्शंस के सीईओ ज़ेनोफ़र फातिमा मुख्य भूमिका में है , जो अपने अंदर के डेविल पर काबू पाने की कोशिश कर रही है।

कोरोना वायरस के प्रकोप के समय में भी सभी सुरक्षा और सावधानियों का पालन करते हुए स्पेक्टर सीरीज की शूटिंग की जा रही है, और इस समय अधिकतर फिल्म मेकर्स को ऐसी ही दुर्लभ स्थिति का सामना करना पड़ रहा है।

सीरीज के पहले एपिसोड का एक्सक्लूसिव प्रीमियर ज़ी सिनेमा मिडिल ईस्ट पर होते ही इस फिल्म को क्रिटिक्स ने काफी पसंद किया, खासतौर पर ज़ेनोफ़र का किरदार, दर्शकों और फिल्म क्रिटिक्स को बेहद पसंद आया, और उन्होंने ज़ेनोफ़र को सबसे अच्छे कलाकार का क्रेडिट दिया।

प्रीमियर की रात को, यूएई के कई ब्लॉगर्स और लोकल रिपोर्टर्स ने भी जेन से फिल्म के बारे में और इस सीरीज को बनाने के लिए प्रेरित करने वाले विचारों के बारे में पूछा तो ज़ेनोफ़र ने कहा, “मुझे लगता है कि मैंने इस फ़िल्म को अपना बेस्ट दिया है, यह कुछ नया है और मैंने अपनी पिछली फिल्मों की तरह स में भी एक नई भूमिका निभाई है।”

अब जब सीरीज का पहला एपिसोड जारी हो गया है, तो कई लोग यह देखने के लिए उत्सुक हैं कि साइकोलॉजीकल थ्रिलर में आगे क्या होने वाला है क्योंकि पहला एपिसोड एक क्रिप्टोकरंसी पर समाप्त हुआ है। सीरीज की चार एडिशनल इंस्टालमेंट होंगी और हर एक 15 मिनट की होंगी। सीरीज के अगले एपिसोड की शूटिंग इस समय चल रही है और इसे ‘स्पेक्टर:जेनेसिस’  नाम दिया गया है, और ये एक रहस्यमय टाइटल है।

स्पेक्टर:जीन्सिस भी दिलचस्प बैकस्टोरी और बैकग्राउंड के साथ नए कलाकारों की एक नई लाइनअप का वादा करती है, और पहले की तरह दूसरा एपिसोड भी एक्सक्लूसिव प्लेटफार्म पर रिलीज से पहले अनाउंस किया जाएगा।

स्पेक्टर सीरीज के साथ ही ज़ेनोफ़र अपने  इनिशिएटिव पब्लिक सर्विस अनाउंसमेंट (P S A) के तहत अपने नेक्स्ट प्रोजेक्ट “टुमॉरो नेवर केम” की भी अनाउंसमेंट करने वाली है। ‘टुमॉरो नेवर केम’ की कहानी एक डॉक्टर  के इर्द-गिर्द घूमती है। कोरोना वायरस उसकी जिंदगी को बदल देता है और उसकी जिंदगी में क्या दुख आते हैं, इसी पर कहानी आधारित होगी।

ज़ेनोफ़र ने होप पीएसए जारी किया जिसका फोकस कोरोनावायरस के दौरान हुए टेंशन, डिप्रेशन और आत्महत्या पर था। पीएसए कई लोगों के साथ जुड़ा जैसे- जिन्होंने अपनी जॉब खो दी थी या अपने परिवारों के साथ नहीं थे, जिसके कारण निगेटिव थॉट्स और उनकी बिगड़ती मानसिकता के चलते वो डिप्रेशन का शिकार हो रहें थे।

हालाँकि, ज़ेनोफ़र ने इन निगेटिव विचारों को बदल दिया और उन्हें एक ऐसे तरीके से जोड़ने में मदद की जो सकारात्मकता पैदा करता है। पीएसए की शूटिंग पूरी हो गई है और जल्द ही रिलीज होने वाली है।

मनोरंजन की ताज़ातरीन खबरों के लिए Gossipganj के साथ जुड़ें रहें और इस खबर को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और हमें twitter पर लेटेस्ट अपडेट के लिए फॉलो करें।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like