अटल बिहारी वाजपेयी जी ने जब अमिताभ बच्चन के खिलाफ रेखा को चुनाव लड़ाने की बात कही

अटल बिहारी वाजपेयी जैसा राजनीतिक वक्ता ना तो कभी हुआ है और ना ही होगा। वो गंभीर बातें भी ऐसी चुटीले अंदाज़ में कह देते थे कि लोग हंसने लगते थे। विपक्षी नेताओं पर शब्दों के चुटीले बाण चलाने हों या फिर इशारों-इशारों में किसी पर निशाना साधना हो अटल बिहारी वाजपेयी इस कला में निपुण थे।

अटल बिहारी वाजपेयी जी के राजनीतिक जीवन में एक ऐसा मोड़ भी आया जब उन्होंने बिग बी यानी अमिताभ बच्चन पर भी निशाना साधा था। यह किस्सा साल 1987 का है।

अमिताभ बच्चन वर्ष 1984 में उत्तर प्रदेश की इलाहाबाद संसदीय सीट से कांग्रेस के टिकट पर जीत कर लोकसभा में आए थे। लेकिन साल 1987 में बोफोर्स घोटाले में अमिताभ बच्चन का नाम उछलने के बाद राजनीतिक गलियारे में सनसनी मच गई। आखिरकार अमिताभ बच्चन ने इस घोटाले में नाम आने के बाद अपने पद से इस्तीफा दे दिया।

अमिताभ के इस्तीफे के बाद अटल बिहारी वाजपेयी जी के साथ एक साक्षात्कार के दौरान बोफोर्स घोटाले में अमिताभ बच्चन का नाम सामने आने को लेकर सवाल पूछा तो अटल जी ने कहा कि –

‘उनके विरुद्ध भी आरोप लगे…विशेषकर उनके भाई के विरुद्ध। वो भारत में अपना फैला हुआ धंधा छोड़कर अचानक स्विट्जरलैंड चले गए..क्यों चले गए? वहां वो क्या कर रहे हैं? बच्चे महंगे स्कूलों में पढ़ रहे हैं उन बच्चों की फीस कैसे दी जा रही है? ये सवाल पार्लियामेंट में और पार्लियामेंट के बाहर उठे हैं। कोई संतोषजनक उत्तर नहीं दिया गया। इससे प्रधानमंत्री की छवि धूमिल हुई है…शायद प्रधानमंत्री को बचाने के लिए श्री अमिताभ बच्चन ने इस्तीफा दिया हो।’

अमिताभ बच्चन पर निशाना साधते हुए अटल बिहारी वाजपेयी ने मशहूर अभिनेत्री रेखा पर चुटकी ली और आगे कहा कि ‘चुनाव से पहले मुझसे पूछा गया था कि यदि अमिताभ बच्चन आपके खिलाफ उतरेंगे तो आप क्या करेंगे? इस पर मैंने कहा कि मुझे रेखा से प्रार्थना करनी होगी कि वह हमारी तरफ से चुनाव लड़ें। मैं अभिनेताओं का तो सामना नहीं कर सकता। एक्टर्स से दोस्ती करना अच्छा है लेकिन, उस दोस्ती से राजनीति खराब करना अच्छा नहीं है।’

मनोरंजन की ताज़ातरीन खबरों के लिए Gossipganj के साथ जुड़ें रहें और इस खबर को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और हमें twitter पर लेटेस्ट अपडेट के लिए फॉलो करें

Share
Published by
Gossipganj Reporter

Recent Posts

This website uses cookies.

Read More