खेल में मनोरंजन का तड़का, तैयार हो जाइये कुमाइट वन फाइट लीग के लिए , भारत में खेल ने बहुत लोकप्रियता हासिल की है और इसीलिए अब इस क्षेत्र में नयी प्रतिभाओं को पहचानने और हौसला देने के लिए टोयम इंडस्ट्रीज लिमिटेड है, यह वह कंपनी है जिसे बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ने अपने लिस्ट में शामिल किया था। कंपनी के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक, मोहम्मद अली बुधवानी सही मायने में उल्लेख करते हैं, “पिछले 10 वर्षों में, खेल एक उद्योग के रूप में मूल रूप से बदल गया है। खेल आज के दौर में किसी कॉर्पोरेट निवेश के लिए मार्केटिंग और ब्रांडिंग अवसर पैदा का सिर्फ एक सक्रिय मंच नहीं रहा बल्कि अब यह दुनिया भर में प्रशंसकों के लिए काफी मायने भी रखता है।”

इसे भी पढ़िए:   कल्कि कोचलिन के दीवाने हैं ऋतिक रोशन, जानिए क्या चल रहा है?

भारतीयों ने क्रिकेट, फुटबॉल, हॉकी और कबड्डी भी गले लगाए हैं, लेकिन उस खेल के बारे में क्या जिसकी शुरुआत असलियत में भारत से ही हुयी थी, जिसे हम फाइटिंग कहते है? तो तैयार हो जाइये इस रोमांचकारी खेल के लिए क्योंकि दुनिया भर के अन्य देशों साथ इस खेल ने अब भारत में अपना रास्ता खोज लिया है। टोयाम प्रस्तुत कर रहे है, कुमाइट वन फाइट लीग (K1L), जो एक तादात के साथ एक एक्शन-पैक्ड गेम लीग होने का वादा करता है, और निश्चित रूप से खेल में यह अगली बड़ी बात हो सकती है।

इसे भी पढ़िए:   विवेक ओबेरॉय शहीद जवानों के परिवार को देंगे 25 फ्लैट

कुमाइट एक जापानी शब्द है जिसका मतलब होता है लड़ाई। K1L आपके सामने लड़ाईयों को पेश करेगा, जिनमे शामिल है, मृत्यु का तालाब, मृत्यु का पिंजरा, नरक वाली रेलगाड़ी, नुकीला अखाडा, हवाई युद्ध क्षेत्र, बिछा जाल। इन मैचों में 7 लड़ाकू होंगे, जिनमे 5 पुरुष और 2 महिला लड़ाकुओं का समावेश होगा, जिसमें से छह टीमों में से प्रत्येक में 3 बैकअप होंगे। 3 राउंड के लिए भारतीय और अंतराष्ट्रीय लड़ाकुओं में से चुने गए हर लड़ाकुओं को एक षट्भुज आकार की रिंग में खेलना होगा। एक खिलाड़ी 3 मिनट के अंदर अपनी ताकत साबित कर सकता है, जो प्रत्येक गोल के लिए प्रदान किया जाएगा, साथ ही मैच दोबारा शुरू होने से पहले खुद को तरो-ताज़ा करने के लिए 2 मिनट का ब्रेक ले सकता है। भारत के अलावा, यह मैच दुबई, बीजिंग, लास वेगास और पेरिस में आयोजित किया जाएगा, यानि वास्तविक अर्थों में अगर कहा जाये तो इसे अंतरराष्ट्रीय कहा जायेगा।

इसे भी पढ़िए:   फिल्म 'डैडीज़ डॉटर' में बेटी के लिए पिता की सोच दर्शाई गयी है: अभिमन्यु चौहान

Loading...
-->
loading...

LEAVE A REPLY

5 × four =