टॉयलेट एक प्रेमकथा भी नहीं बच पाई सेंसर बोर्ड से, लग गए तीन कट

टॉयलेट एक प्रेमकथा भी नहीं बच पाई सेंसर बोर्ड से, लग गए तीन कट , प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान पर आधारित फिल्म टॉयलेट एक प्रेमकथा भी सेंसर बोर्ड के शिकंजे से नहीं बच पाई है। बोर्ड की तरफ़ से फिल्म के डायरेक्टर्स को आठ वर्बल कट लगाने के आदेश दिए गए हैं। लेकिन अक्षय ने एक मीडिया रिपोर्ट में बताया कि 8 नहीं 3 वर्बल कट लगाने के आदेश है। फिल्म के बारे में बात करें तो यह कहना सही रहेगा कि इसमें कुछ क्राइम, कुछ लव स्टोरी तो कुछ सस्पेंस होगा। लेकिन इस शुक्रवार जो फिल्म आपके आसपास के सिनेमाघरों में लगने वाली है वो लीग से हटकर है। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं कि ये फिल्म उस विषय पर है जो कभी चर्चा का विषय रहा ही नहीं और वो विषय है टॉयलेट।

अक्षय ने अपने इंटरव्यू में कहा कि मूवी एक जगह ‘ह।।रा।।’ गाली में कट लगाए जाने को कहा गया है। उसी तरह 2 ऐसे ही छोटे-छोटे कट लगाने के आदेश हैं। अक्षय ने कहा कि पता नहीं, नई बात कहा से आ रही है कि फिल्म में 8 कट लगाने के आदेश हैं। आपको बता दें फिल्म में अक्षय कुमार और भूमि पेडनेकर मुख्या भूमिका में नज़र आएंगे और फिल्म का मुख्य उद्देश्य स्वछता अभियान को बढ़ावा देना है। हालांकि, फिर भी सेंसर बोर्ड इस फिल्म पर अपनी कैंची चलाने से पहले बिलकुल कतराता नजर नहीं आया वो भी तब जब फिल्म की रिलीज में केवल 2 दिन का समय बचा है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक इस फिल्म के एक सीन में ‘एक किरदार कहता है कि वो एक रस्सी को कान पर रख कर टॉयलेट करता है जिसमें उसका मतलब जनेउ से है’। एक अन्य सीन में ‘अक्षय अपनी पत्नी भूमि पेडनेकर को कहते नजर आते हैं कि तुमने मुझे तीन बार जगाया,  मैं कोई सांड हूं क्या’। ऐसे ही कुछ अन्य सीन्स पर सेंसर बोर्ड ने अपनी कैंची चलाई है। बता दें कि यह फिल्म 11 अगस्त को रिलीज़ होने जा रही है और अक्षय कुमार पहले ही यह बयान दे चूके है कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए भी इस फिल्म की स्पेशल स्क्रीनिंग रखेंगे।

You might also like