Gossipganj
Film & TV News

राजेश कुमार ने एक्टिंग छोड़ पकड़ी अपने गांव की राह

अपने गांव को बनाएंगे स्मार्ट गांव

0 343

राजेश कुमार ने एक्टिंग छोड़ पकड़ी अपने गांव की राह, टीवी शो ‘साराभाई वर्सेज साराभाई’ तो आपको याद ही होगा। रत्ना पाठक और सतीश शाह के बेजोड़ अभिनय से सजे इस शो में एक किरदार था रोसेस यानी कि राजेश कुमार। अब खबर आ रही है कि राजेश कुमार मुंबई में एक्टिंग छोड़कर वापस बिहार पहुंच गए हैं और यहां एक गांव में खेती कर रहे हैं।

पटना में पैदा हुए राजेश 1998 में अपनी प्रेग्नेंट बहन की देख-रेख करने के लिए मुंबई पहुंचे थे। उन्होंने अपनी ग्रेजुएशन बिहार यूनिवर्सिटी से पूरी की और वह मुंबई के सेंट जेविअर कॉलेज से मास कम्युनिकेशन करना चाहते थे, लेकिन इसी बीच उनके एक दोस्त ने उन्हें एक छोटा सा रोल आॅफर कर दिया। बकौल राजेश उन्हें सिर्फ इतना कहना था- ‘हैप्पी मैरिज एनिवर्सरी कंग्रेचुलेशन… ये रही आपकी टिकट’, लेकिन इस लाइन को बोलने के लिए राजेश ने 20 रीटेक लिए थे। पहली दफा राजेश को इस रोल के लिए तब 1,000 रुपये मिले थे और यहीं से उनके मन में एक्टर बनने का सपना पलने लगा।

खबरों की मानें तो राजेश कुमार ने एक्टिंग की दुनिया से दूरी बना ली है। राजेश शो बिजनेस से दूर होकर अब बिहार के एक गांव बर्मा को स्मार्ट गांव बनाने में जुटे हुए हैं। राजेश खुद भी अपनी पुश्तैनी जमीन पर शून्य-बजट आॅर्गेनिक खेती कर रहे हैं। बकौल राजेश जब वो अपने गांव पहुंचे तो उन्होंने देखा कि उनके पिता ने पुश्तैनी जमीन पर खेती की हुई है, जिससे वह बेहद प्रभावित हुए। मुंबई मिरर को दिए इंटरव्यू में राजेश कुमार ने बताया- ‘जब मैं पिछले साल बर्मा गया था, मैं अपनी आंखो में विश्वास नहीं कर पाया. मेरे पापा ने 5 सालों में ही हमारी पुश्तैनी जमीन पर सब्जियां, फल और फसल उगाना शुरू कर दिया था, वो भी बिना किसी कैमिकल के यूज के’।

वो सीधे बिहार के बर्मा गांव पहुंच गए, लेकिन इस गांव में न तो सिंचाई के लिए पानी की व्यवस्था थी और न बिजली। ऐसे में राजेश ने इस गांव की दशा बदलने का संकल्प लिया। उन्होंने इसके लिए स्थानीय अधिकारियों से मुलाकात करनी शुरू कर दी। अब धीरे-धीरे इस गांव के हालात सुधर रहे हैं। राजेश अब इसी गांव में रहकर खेती कर रहे हैं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Loading...