सुशांत सिंह राजपूत की हत्या फज की बेल्ट से की गई | सुशांत के पूर्व असिस्टेंट का खुलासा

सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है, उम्मीद जताई जा रही है कि मामले से जल्द पर्दा उठेगा। सुशांत के परिवार के वकील जो आरोप रिया चक्रवर्ती और अन्य लोगों पर लगा रहे हैं, वो चौकाने वाले हैं। हाल ही में सुशांत सिंह राजपूत के पूर्व असिस्टेंट अंकित आचार्य ने चौंकाने वाला दावा किया है।

अंकित वो शख्स है, जो सुशांत सिंह राजपूत के साथ करीब चौबिसों घंटे रहा करता था, लेकिन रिया ने उसको काम से निकाल दिया था। अंकित ने जो दावा किया है वो केस की पहेली को हल कर सकता है। अंकित का कहना है कि भैया (सुशांत) सुसाइड नहीं कर सकते, ये एक हत्या है।

अंकित आचार्य सुशांत सिंह राजपूत के एक्स असिस्टेंट थे, जो उन्हीं के साथ रहते थे। पिंकविला की एक रिपोर्ट के मुताबिक, अंकित ने दावा किया कि सुशांत सुसाइड नहीं कर सकते। इस बातचीत में उन्होंने कहा कि मैं सुशांत भैया को अच्छी तरह से जानता था, मुझे विश्वास नहीं हो रहा कि ये सुसाइड केस है, यह निश्चित रूप से एक हत्या है।

इस बातचीत में उन्होंने आगे कहा कि अगर हम ये मान भी लें कि सुशांत सिंह राजपूत ने सुसाइड किया है तो जब कोई सुसाइड करता है तो उसके गले पर मार्क U शेप में आता है, लेकिन जब कोई आपका गला दबाता है तब O शेप आता है। सुशांत भैया के केस में O शेप था। जब कोई सुसाइड करता है तो उनकी आंख और जीभ बाहर आ जाती है, लेकिन सुशांत भैया के केस में ऐसा नहीं हुआ, तो ये मर्डर ही है।

अंकित ने आगे चौंका देने वाला बयान दिया और बताया कि किस चीज़ से उनकी (सुशांत) की हत्या हुई होगी। उन्होंने कहा कि

मैं आपको यह भी बता सकता हूं कि उनके गले में किस चीज का निशान था, वो निशान सुशांत भैया के पेट डॉग फज की बेल्ट का है। मेरे पास भैया की बॉडी की फोटोज हैं और मुझे ऐसा ही लगता है कि गुनहगारों ने उसी बेल्ट से सुशांत भैया का गला घोटा है।

अंकित आचार्य

अंकित ने कहा कि सीबीआई को केस ट्रांसफर होने से मैं बहुत खुश हूं। मैं पूरी जांच चाहता हूं और उम्मीद करता हूं कि सुशांत सर को न्याय मिले। उन्होंने कहा कि मैं चाहता हूं कि दोषियों को फांसी तक की सजा हो।

मनोरंजन की ताज़ातरीन खबरों के लिए Gossipganj के साथ जुड़ें रहें और इस खबर को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और हमें twitter पर लेटेस्ट अपडेट के लिए फॉलो करें।

You might also like