स्प्राइट के नए कैंपेन से विज्ञापन की दुनिया में आई ताजगी

स्प्राइट के नए कैंपेन से विज्ञापन की दुनिया ने न्यू नॉर्मल में फिल्में शूट करने का अपनाया वर्चुअल माध्यम। तापसी पन्नू और आयुष्मान खुराना को फीचर करने वाला यह नया कैंपेन स्प्राइट को उपभोक्ताओं के लिए ‘रिफ्रेशमेंट ऑफ च्वॉइस’ बताता है, खासकर तब, जब वे अपने घरों में टीवी स्क्रीन के सामने बैठ रिलैक्स कर रहे होते हैं।

कोका-कोला इंडिया ने अपने प्रमुख पेय स्प्राइट के लिए एक नया ब्रांड अभियान शुरू किया है। अभियान में प्रमुख हस्तियां तापसी पन्नू और आयुष्मान खुराना चार रिफ्रेशिंग फिल्मों में हैं। हर एक फिल्म में घर पर आराम करने के अनुभव के मज़ेदार और झुंझलाहट पैदा करनेवाले पक्षों को दर्शाया गया है।

इनका केंद्रीय विचार यह है कि जब हम स्क्रीन पर कुछ पसंदीदा देखते हुए आराम करने की कोशिश कर रहे हैं, तो हम बाकी सभी परेशानियों को कैसे दूर कर सकते हैं । चाहें हम कोई शो देख रहे हों, या फिर अपने सोशल मीडिया फीड के माध्यम से कैज़ुअली ब्राउज़िंग कर रहे हों, तब कैसे हम परेशानियों से तंग होने के बजाय एक स्प्राइट के साथ मूड को पहले जैसा रख सकते हैं।

‘न्यू नॉर्मल’ के अवसरों और बाधाओं के साथ तालमेल बनाते हुए, पूरी शूटिंग प्रक्रिया एक रोमांचक चुनौती थी, जो अपने आप में कई नए अनुभव लेकर आई क्योंकि अधिकांश शूटिंग वर्चुअल की गई थी।

कोका-कोला इंडिया और साउथ वेस्ट एशिया में स्पार्कलिंग कैटेगरी के वाइस प्रेसीडेंट श्रेनिक दसानी ने नए कैंपेन के बारे में कहा, “इस नए कैंपेन का शुभारंभ, हमारे उपभोक्ता केंद्रित दृष्टिकोण को रेखांकित करता है। हमारे ब्रांडों ने हमेशा उपभोग के विभिन्न अवसरों के लिए मूल्यों को जोड़ने की मंशा रखी है और विकसित होने वाली वास्तविकता को देखते हुए, हम अब अपने उपभोक्ताओं के साथ नई स्थितियों में जुड़ने और उनके जीवन के ‘न्यू नॉर्मल’ में कुछ और भरोसेमंद क्षण लाने के लिए तैयार हैं। हम आपके साथ ठीक वही करना चाहते हैं, जिसके लिए स्प्राइट जानी जाती है। जब आप स्क्रीन के सामने अपना पसंदीदा समय बिता रहे हों, तब हम आपके लिए जिंदगी के कुछ मजेदार, बोल्ड और प्रासंगिक अनुभव लाए हैं।

हमारा सरल संदेश: व्यवधान या झुंझलाहट चाहे कैसी भी हो – जब आप स्क्रीन के सामने अपना पसंदीदा समय बिता रहे हों और घर पर आराम से बैठना चाहते हों, एक ठंडी स्प्राइट अभी भी सबसे अच्छा विकल्प है।

नए कैंपेन को लेकर आयुष्मान खुराना ने कहा, “स्प्राइट्स का बकवास हटाओ, स्प्राइट उठाओ” कैंपेन रोजमर्रा के उन वास्तविक व्यवधानों के बारे में है जो हमें उन पलों में घेर लेते हैं, जब हम घर पर आराम से समय बिता रहे होते हैं। वर्तमान स्थिति में फिल्म की शूटिंग करने से कई नए अनुभव और सीख मिली। यह सुनिश्चत करने के लिए कि हम सभी सुरक्षा दिशानिर्देशों का पालन करते रहें, सभी संभावित एहतियात बरते गए। मुझे यह शूट विशेष रूप से पसंद आया क्योंकि यह मेरे गृहनगर चंडीगढ़ में शूट किया गया था। मैं स्प्राइट के साथ जुड़ने के लिए उत्साहित हूं और कामना करता हूं कि हर कोई आराम  करने के समय में व्यवधानों से निपटने के लिए बिल्कुल तैयार हो। ”

कैंपेन के अनूठे कॉन्सेप्ट और शूट पर अपने विचार साझा करते हुए, तापसी पन्नू ने कहा, “उन सभी कैंपेन में से जो मैंने अतीत में शूट किए हैं – यह मेरे पसंदीदा कैंपेन में से एक है। मैं हमेशा व्यक्तिगत रूप से मुखर, ईमानदार कॉन्सेप्ट रखने वाली रही हूं और बकवास हटाओ, स्प्राइट उठाओ के पीछे का विचार वाकई मुझे प्रतिध्वनित करता है। मुझे लगता है कि कैंपेन सुपर कूल लग रहा है और आशा है कि हर कोई ठंडी स्प्राइट के साथ इसके मजे लेगा! “

फिल्मों के दौरान, आयुष्मान खुलकर व्हाट्सएप ग्रुपों और और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर हैशटैग से बचने का उपाय ढूंढते नजर आते हैं, जबकि तापसी लॉकडाउन के दौरान जिंदगी के उबाऊपन और वेबसीरीज के दौरान आने वाली बीप पर ब्रेक लगाती हैं। फिल्मों का अंत एक सुकून भरे संदेश के साथ होता है कि दिन के अंत में, कुछ अनुभव कभी नहीं बदलते हैं, और घर में आराम से स्क्रीन के सामने बैठे हुए अपने समय को ज्यादा शानदार और सुखद बनाने के लिए स्प्राइट अभी भी सबसे अच्छा विकल्प है।

कोका-कोला इंडिया के विषय में

कोका-कोला इंडिया देश की अग्रणी पेय कंपनियों में से एक है, जो उपभोक्ताओं के लिये स्वास्थ्यवर्द्धक, सुरक्षित, उच्च गुणवत्ता के, तरोताजा करने वाले पेय विकल्पों की पेशकश करती है।

वर्ष 1993 में अपने पुनःप्रवेश के बाद से कंपनी पेय उत्पादों से उपभोक्ताओं को तरोताजा कर रही है, जैसे कोका-कोला, कोका-कोला ज़ीरो, डाइट कोक, थम्स अप, थम्स अप चार्ज्ड, थम्स अप चार्ज्ड नो शुगर, फ़ैंटा, लिम्का, स्प्राइट, स्‍प्राइट ज़ीरो, माज़ा, वियो “फ्लेवर्ड मिल्क”, मिनट मेड रेन्ज ऑफ ज्यूसेस, मिनट मेड स्मूथी और मिनट मेड विटिंगो, हॉट और कोल्ड चाय और कॉफी विकल्‍पों की जॉर्जिया श्रृंखला, एक्वैरियस और एक्वैरियस ग्लूकोचार्ज, श्वीप्‍स, स्मार्ट वाटर, किनले और बोनएक्वा पैकेज्ड ड्रिंकिंग वाटर और किनले क्लब सोडा।

कंपनी अपने खुद के बॉटलिंग परिचालन और अन्य बॉटलिंग पार्टनर्स के साथ, करीब 2.6 मिलियन रिटेल दुकानों के मजबूत नेटवर्क के माध्यम से करोड़ों उपभोक्ताओं के जीवन का हिस्सा बन चुकी है, जिसकी प्रति सेकंड 500 सर्विंग्स की दर है। इसके ब्राण्ड देश में सबसे चहेते और सबसे अधिक बिकने वाले पेयों में शुमार हैं- थम्स अप और स्प्राइट, सबसे अधिक बिकने वाले दो स्पार्कलिंग पेय हैं।  

कोका-कोला इंडिया का सिस्टम 25,000 लोगों को प्रत्यक्ष और 150,000 से अधिक लोगों को अप्रत्यक्ष रोजगार देता है। भारत में कोका-कोला सिस्टम सामुदायिक पहलों के माध्यम से स्थायी समुदाय निर्मित करने में छोटा-सा योगदान दे रहा है, जैसे सपोर्ट माय स्‍कूल, वीर, परिवर्तन, और उन्नति और कंपनी पर्यावरण पर अपने द्वारा होने वाले प्रभाव को स्वयं कम करती है।

मनोरंजन की ताज़ातरीन खबरों के लिए Gossipganj के साथ जुड़ें रहें और इस खबर को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और हमेंTwitterपर लेटेस्ट अपडेट के लिए फॉलो करें।

You might also like