एमडीएच के मालिक महाशय धर्मपाल गुलाटी का 98 साल में हुआ निधन

एमडीएच मसाला के मालिक महाशय धर्मपाल गुलाटी का 98 साल की उम्र में आज सुबह निधन हो गया। धर्मपाल गुलाटी ने दिल्ली के माता चंदन देवी हॉस्पिटल में आज सुबह 6 बजे अपनी अंतिम सांस ली। धर्मपाल गुलाटी को मसालों का बादशाह भी कहा जाता था।

मसालों के बादशाह कहलाना वाले महाशय धर्मपाल गुलाटी अपने मसालों का प्रचार खुद करते थे। खबरों की मानें तो ऐसा कहा जा रहा है कि गुलाटी कोरोना वायरस की चपेट में आ गएं थे और कोरोना से ठीक होने के बाद हार्ट अटैक की वजह से उनकी मृत्यु हो गई।

आपको बता दे कि व्यापार और उद्योग में उल्लेखनीय योगदान देने के लिए पिछले साल धर्मपाल को पद्मभूषण अवॉर्ड से भी सम्मानित किया गया था। ये सम्मान उन्हें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा दिया गया था।

महाशय धर्मपाल गुलाटी के जीवन के बारे में आपको बताएं तो उनका जन्म 27 मार्च, 1923 को सियालकोट (पाकिस्तान) में हुआ था। उन्होंने 5वीं कक्षा की पढ़ाई पूरी की और साल 1933 में उन्होंने स्कूल छोड़ दिया था। 1947 में देश विभाजन के बाद वह भारत आ गए।

भारत आने के वक्त उनके पास केवल 1500 रुपये थे। उन्होंने परिवार के पेट पालने के लिए तांगा भी चलाया। इसके बाद उन्‍होंने दिल्ली के करोल बाग स्थित अजमल खां रोड पर मसाले की एक दुकान खोली।

महाशय धर्मपाल गुलाटी का मसाले का कारोबार धीरे-धीरे बढ़ता चला गया और आज देश और दुबई में उनकी मसाले की 18 फैक्ट्रियां हैं। धर्मपाल गुलाटी ने अपनी पहली फैक्ट्री 1959 में दिल्ली के कीर्तिनगर में लगाई थी। इतना ही नहीं बल्कि लंदन में भी धर्मपाल का ऑफिस है।

मनोरंजन की ताज़ातरीन खबरों के लिए Gossipganj के साथ जुड़ें रहें और इस खबर को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और हमें Twitter पर लेटेस्ट अपडेट के लिए फॉलो करें।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like