सिद्धार्थ कन्नन को दादा साहेब फिल्म फाउंडेशन अवार्ड्स सर्वश्रेष्ठ एंकर के लिए

सिद्धार्थ कन्नन को दादा साहेब फिल्म फाउंडेशन अवार्ड्स सर्वश्रेष्ठ एंकर के लिए, 14 साल की उम्र में सिद्धार्थ कन्नन का नाम ‘लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स’ में सबसे कम उम्र के ‘आर-जे’ के लिए दर्ज हुआ।

अब उन्हें “दादा साहेब फिल्म फाउंडेशन अवार्ड्स 2018” से नवाजा गया हैं, सिद्धार्थ बोले, “मुझे सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार प्राप्त कर बहुत ही ख़ुशी और गर्व महसूस हो रहा हैं। और यही मेरी तमन्ना हैं की मैं अच्छा काम करता रहू, मुझे लोगो का प्यार और इज्जत मिलती रहे और मैं एंकरिंग में पारंपरिक सीमाओं को तोड़कर कुछ नया करता रहूँ।”

कन्नन का अपना  एक यू ट्यूब  चैनल हैं, जहाँ फेंस की कोई कमी नहीं हैं, और उनके चैनल पर जानीमानी हस्तियाँ जैसे अमिताभ बच्चन, ऋषि कपूर, अलिया भट्ट और वरुण धवन अपने इंटरव्यू दे  चुके हैं।

और कन्नन लन्दन रेडियो पर सुने जाने वाले पहले भारतीये रेडियो जॉकी हैं।चंद्रशेखर पुस्लकर (स्वर्गीय दादा साहेब फाल्के के नाती) सिद्धार्थ कन्नन के तारीफ करते  नहीं थकते, उन्होंने कहा, “एंकरो की दुनिया में सिद्धार्थ सबसे उज्जवल सितारा हैं।

हम वर्षों से इनके काम को बारीकी से देखते आ रहे हैं, इन्होने एंकरिंग के पारंपरिक तरीके को तोडा हैं, और नए आयाम बनाये हैं जिसमे इनकी एनर्जी, मजाक, सहजता और कंटेंट का बहुत बड़ा हाथ हैं, इनका अपनी ऑडियंस से एक खास रिश्ता हैं।

अगर मेरे दादाजी  दादा साहेब फाल्के जीवित होते तो वह सिद्धार्थ को अपनी असाधारण प्रतिभा के साथ एक लम्बी विरासत को आगे ले जाते देख कर बहुत खुश होते।”

अशफाक खोपिकार (प्रेसिडेंट) और श्री बाबुभाई थिबा: (सीनियर वाईस प्रेसिडेंट) ने कन्नन को ‘एंकर्स के शहंशाह’ की उपाधि तक दे डाली।  हमारे प्रतिष्ठित जूरी ने सर्वसम्मति से उन्हें इस श्रेणी के लिए चुना।

वह अपने होस्टिंग स्टाइल से नई उंचाईयो को छु रहे हैं, और वर्ल्ड क्लास एंकरिंग करते हैं।” सिद्धार्थ को ‘सुपर फाइट लीग’, सोनी 6 पर इम्पैक्ट रेसलिंग और कलरस इनफिनिटी पर स्विफ्ट डेविल सर्किल चैलेंज, होस्ट करने के लिए जाना जाता है।

मनोरंजन की ताज़ातरीन खबरों के लिए Gossipganj के साथ जुड़ें रहें और इस खबर को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और हमें Twitter पर लेटेस्ट अपडेट के लिए फॉलो करें।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like