शाल्मली खोलगडे स्वतंत्र कलाकार के रूप में बनाना चाहती हैं अपनी पहचान, वीडियो

शाल्मली खोलगडे स्वतंत्र कलाकार के रूप में बनाना चाहती हैं अपनी पहचान, वीडियो  ,ऐसा नहीं है कि पुरुषों की दुनिया में महिला आ गई है या महिलाओं की दुनिया में पुरुष! यह बस एक प्रण है एक समान होने और एक समान नज़र आने का। शाल्मली खोलगडे के सबसे पहले स्वतंत्र सिंगल गाने का यही मूल मंत्र है। इस गाने का टाइटल है ‘ऐ…’। शाल्मली ने बॉलीवुड को कुछ बेहद यादगार और बहुचर्चित गाने दिए हैं। अब वे एक स्वतंत्र कलाकार के रूप में अपनी पहचान बनाने की तैयारी में है।

‘ऐ’ का नृत्य-निर्देशन और इसके सान बेहद अच्छे हैं जो लैंगिक समानता की इसकी मौलिक अवधारणा पर बल देते हैं।इस गाने पर शाल्मली ने कहा ‘मैंने इस काम को करने के लिए बहुत इंतज़ार किया है। इसका परिणाम चाहे जो भी हो, इस गाने के साथ अपने स्वतंत्र करियर की शुरआत करना मुझे संतुष्टि प्रदान कर रहा है।’

चूंकि ‘ऐ’ उनका पहला एकल गीत है, यह गाना लैंगिक समानता को व्यक्त करता हैं और किसी भी तरह का भेदभाव न हो इस बात को मजबूती से रखता है। यह महिलाओं के श्रेष्ठ होने का तर्क नहीं है बल्कि दोनों लिंगों में समानता रखने का एक विचार है। इस वीडियो को शाल्मली ने ख़ुद निर्देशित किया है और गाने का संगीत भी इन्होंने रचा है। इसके तुरंत बाद दो और गाने रिलीज के लिए तैयार हैं।

You might also like