10 मिनट तक लगातार रोती रहीं शबाना आज़मी, कारण सुन कर चौंक जाएंगे आप

10 मिनट तक लगातार रोती रहीं शबाना आज़मी, कारण सुन कर चौंक जाएंगे आप , एक्टर राहुल बोस के निर्देशन में बनी फिल्म ‘पूर्णा’ की स्क्रीनिंग खास लोगों के लिए रखी गई। स्क्रीनिंग देखने के बाद उन्हें एक भी ऐसा व्यक्ति नहीं मिला जो रोया न हो।  इतना ही नहीं फिल्म की पूरी शूटिंग उन्होंने 37 दिन में पूरी कर ली थी और इस बात को लेकर सबकी चुनौती उन्हें स्वीकार है। इतना ही नहीं राहुल ने यह भी बताया कि वह फिल्म के उस सीन को शूट करते वक्त खुद रो पड़े थे, जब पूर्णा ने एवरेस्ट की चोटी को छू लिया था। जब पूर्णा मलावथ ने यह उपलब्धि अपने नाम की तब उनकी और उनके परिवार की स्थिति ठीक नहीं थी। वह आदिवासी क्षेत्र से आई हैं और गरीबी में पली बढ़ी हैं।

इतना ही नहीं उसके माता-पिता अनपढ़ हैं और देश के ऐसे गांव की रहने वाली हैं जिसका विकास नहीं हुआ था। लेकिन अपनी अदम्य इच्छा शक्ति के बल पर मात्र 13 वर्ष की आयु में उसने विश्व कीर्तिमान स्थापित किया है। फिल्म ‘पूर्णा’ हिंदुस्तान की एक ऐसी बेटी की कहानी है जिसने मात्र 13 वर्ष की उम्र में विश्व के सबसे ऊंचे पर्वत एवरेस्ट की चोटी को छू लिया था। इस पर एक्टर राहुल बोस ने फिल्म डायरेक्ट की है जिसको लेकर उन्होंने एक खास बात बताई।

राहुल ने कहा कि, जब भी उन्होंने किसी को भी यह फिल्म दिखाई उसकी आंखों से आंसू जरूर निकले। हर कोई इमोशनल हो गया। खास बात यह है कि शबाना आजमी फिल्म देखकर करीब 10 मिनट तक रोई और उनकी आंखों से आंसू रुक ही नहीं रहे थे। इस फिल्म के बारे में राहुल बोस ने यह भी बताया कि फिल्म को उन्होंने प्यार से नहीं जूनून से बनाया है। इस फिल्म से जुड़ा एक रोचक किस्सा राहुल ने सुनाया कि, फिल्म की शूटिंग के दौरान उन्होंने पहली बार फिल्म का पैकअप समय से दो घंटे पहले किया था। 10 मिनट तक अगर कोई फिल्म की कहानी सोच कर रोये तो कम से कम उस प्रोड्यूसर को उस 10 मिनट के लिए खुश होना ही चाहिए। इस 10 मिनट पर राहुल काफी खुश हैं कि उन्होंने अच्छा काम किया है।

मनोरंजन की ताज़ातरीन खबरों के लिए Gossipganj के साथ जुड़ें रहें और इस खबर को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और हमें Twitter पर लेटेस्ट अपडेट के लिए फॉलो करें।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like