ऋषि कपूर जो सच बोलने के चक्कर में किसी की भी पोल खोल देते हैं

जन्मदिन विशेष

ऋषि कपूर अपना 66वां जन्मदिन मना रहे हैं। हाल ही में में ऋषि कपूर अपनी फ़िल्म ‘मुल्क’ की वजह से चर्चा में रहे। ऋषि कपूर की छवि एक ऐसे अभिनेता की है जो बिना किसी लाग लपेट के अपनी बात खुलकर कहते हैं!

राजकपूर के तीन स्टार बेटों में से एक ऋषि कपूर उम्र बढ़ने के साथ ही कुछ दमदार फ़िल्मों में भी नज़र आ रहे हैं!

आपको बता दें कि ट्विटर पर ये चिंटू अंकल के नाम से फेमस हो चुके हैं। इतना ही नहीं ऋषि कपूर की आत्मकथा ‘खुल्लम खुल्ला ऋषि कपूर अन्सेन्सर्ड’ में इन्होंने जितने खुलासे कर दिए।

उतने अगर राजनीति में हो जाते तो बवाल कट जाता। ये तो बॉलीवुड था जिसने सारे खुलासे सुने पढ़े और चुप रहा। इनकी आत्मकथा के कुछ ऐसे ही चुनिंदा खुलासे आपके लिए पेश हैं।

बेस्ट एक्टर का अवार्ड खरीदा 30 हज़ार रूपये में

लो जी ये हुई ना बात। अमिताभ बच्चन अपनी फिल्म जंजीर के लिए बेस्ट एक्टर के एवॉर्ड का इंतज़ार करते रहे और इधर चिंटू जी ने 30 हज़ार रूपये में अवॉर्ड ही खरीद लिया।

अपनी किताब में उन्होंने लिखा है- ”हां…मैंने बेस्ट एक्टर का अवार्ड खरीदा है और इसीलिए अमिताभ बच्चन नाराज़ हैं।” ऋषि कपूर ने बताया कि उन्होंने ‘बॉबी’ फ़िल्म के लिए बेस्ट एक्टर का अवार्ड खरीदा था। वो भी 30 हज़ार रूपये में।

ऋषि कपूर बताते हैं कि अमिताभ बच्चन इसलिए उनसे काफी समय तक नाराज़ थे क्योंकि उन्हें लगा वो ‘ज़ंजीर’ के लिए जीतेंगे।

बहरहाल हाल ही में ‘102 नॉट आउट’ में हम बिग बी और ऋषि कपूर की जोड़ी को एक साथ देख चुके हैं! साथ ही दोनों की दोस्ती भी गजब की है। इसे कहते हैं दोस्ती सूफियाना।

राजकपूर और वैजयंतीमाला के रिश्ते पर खुलासा

वेटरन एक्ट्रेस वैजयंतीमाला राज कपूर के साथ अफ़ेयर से हमेशा इंकार करती रही हैं, लेकिन ऋषि लिखते हैं- ”मुझे याद है जब पापा वैजयंतीमाला के साथ इंवॉल्व थे, तो मैं मम्मी के साथ मरीन ड्राइव के नटराज होटल में शिफ़्ट हो गया था।

होटल से हम लोग दो महीने के लिए चित्रकूट अपार्टमेंट में चले गए, जो पापा ने मॉम और हमारे लिए ख़रीदा था।” ऋषि ने इस बात पर भी आपत्ति जताई है कि वैजयंतीमाला ने राज कपूर के साथ अपने अफे़यर को मैन्युफेक्चर्ड बताया था।

उनका कहना है कि अगर उस वक़्त पापा ज़िंदा होते तो वो ऐसा कहने की हिम्मत हरगिज नहीं कर सकती थीं। ऋषि ने लिखा है कि उनके पिता को शराब, सिनेमा और लीडिंग लेडीज़ से प्यार था।

पिता राजकपूर और नरगिस के रिश्ते पर खुलासा

ऋषि कपूर लिखते हैं- ”मेरे पिता राज कपूर 28 साल के थे और पहले ही हिंदी सिनेमा के शो-मैन का ख़िताब पा चुके थे। उस वक़्त वो प्यार में भी थे, दुर्भाग्य से मेरी मां के अलावा किसी और से।

उनकी गर्लफ्रेंड उनकी कुछ हिट्स ‘आग’, ‘बरसात’ और ‘आवारा’ में उनकी हीरोइन भी थीं।” ऋषि लिखते हैं कि नर्गिस को इन-हाउस हीरोइन कहते थे और आरके स्टूडियो के चिह्न में भी वो शामिल हैं।

अमिताभ की कामयाबी में हम सब शामिल हैं

भले ही आज ऋषि के रिश्ते अमिताभ बच्चन से बेहद करीबी हों, लेकिन अपनी बात रखने में ऋषि कपूर ने बिल्कुल डिप्लोमेसी नहीं दिखाई है।

उनके मुताबिक नि:संदेह अमिताभ बच्चन बहुत बड़े सुपरस्टार हैं और उन्होंने एक मिसाल कायम की है, लेकिन ऋषि का यह मानना है कि अमिताभ की सफलता में उन तमाम छोटे-छोटे कलाकारों का भी योगदान हैं, जिनके साथ उन्होंने काम किया है।

दाऊद इब्राहिम के साथ चाय पी चुके हैं

ऋषि कपूर ने अपनी किताब में दाऊद इब्राहिम से उनकी मुलाकात पर लिखा है कि- “शोहरत ने मुझे अच्छे लोगों के साथ ही संदिग्ध लोगों से भी मिलवाया। इनमें से एक था दाऊद इब्राहिम।

यह साल 1988 की बात है। जाहिर है, यह 1993 के मुंबई ब्लास्ट से पहले की घटना थी और उस वक्त मैं दाऊद को भगोड़ा नहीं समझता था। तब तक वह महाराष्ट्र के लोगों का दुश्मन भी नहीं था।

या कम से मुझे ऐसा लगता था। दाऊद ने मेरा स्वागत किया और कहा,’किसी भी चीज की जरूरत हो तो बस मुझे बता दें।’ उसने मुझे अपने घर भी बुलाया। मैं भौंचक्का था।”

मनोरंजन की ताज़ातरीन खबरों के लिए Gossipganj के साथ जुड़ें रहें और इस खबर को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और हमें twitter पर लेटेस्ट अपडेट के लिए फॉलो करें।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like