राखी सावंत का असली नाम जानते हैं आप?

फिल्म इंडस्ट्री की नंबर वन ड्रामा क्वीन राखी सावंत उर्फ नीरू बेडा का आज जन्मदिन है। बचपन में मुफलिसी में दिन गुजारने वाली राखी अपने आपको लोवर मिडिल क्लास परिवार का मानती है।उसने इस बात को कभी नहीं छिपाया कि बचपन में कई दिन उसे भूखा सोना पड़ा, ठीक से पढ़ाई नहीं हो पाई, मां से रिश्ते बड़े तल्ख रहे, अपनी मर्जी से वह क्रिश्चियन बनी।

वह आसानी से किसी पुरुष पर यकीं नहीं करती। बेशक वह बाहर से अपने आपको बेहद मजबूत दिखाती है, पर अंदर से वह आज भी डरी रहती है। आज भी सोते समय डर लगता है कि कहीं यह सब एक सपना तो नहीं, कल सुबह खाली पेट तो उठना नहीं पड़ेगा?

38 साल की राखी का पैदाइशी नाम है नीरू। उसकी मां ने दूसरी शादी एक पुलिस से की थी। इस तरह से वह नीरू सांवत बनी। शुरुआती कुछ फिल्मों में वह रूही नाम से आई। फिर अपना नाम बदल कर राखी रख लिया। राखी जैसी लड़कियां फिल्म इंडस्ट्री में भरी पड़ी हैं।

लगभग पच्चीस साल पहले कोरियाग्राफर सरोज खान के ग्रुप में काम करने वाली पूनम ने कहा था– यहां हर साइड डांसर की ख्वाहिश एक दिन हेलन या कल्पना अय्यर बनने की होती है। एक सोलो आयटम डांस करने को मिल जाए बस। पूनम सुंदर थीं, पर कभी ग्रुप डांसर से आगे नहीं बढ़ पाई। रंगीला फिल्म की हीरोइन उर्मिला मातोंडकर की तरह हर लड़की किस्मतवाली नहीं होती कि उसे आयटम नंबर या हीरोइन की भूमिका मिल जाए।

आइटम बॉम्ब राखी सावंत में ऐसा क्या है जो उसे आज के दौर की दूसरी आयटम डांसरों से अलग बनाता है? बड़बोलापन? उतावलापन? मूर्खतापूर्ण जवाब? ये सब शायद वो जानबूझ कर करती है। उसके अंदर चौबीसों घंटे जो आग खौलती रहती है, वो है जो उसे सबसे अलग बनाती है। 

आइटम बॉम्ब राखी सावंत का नाम 2004 में आई सुपरहिट फिल्म ‘मैं हूं ना’ के बाद उभरा था। राखी आज भी गर्व से बताती हैं कि वह किंग खान की खोज है। जबकि सचाई यह है कि ‘मैं हूं ना’ से पहले वह कई बी और सी ग्रेड फिल्मों में छोटे-मोटे रोल और आयटम नंबर कर चुकी थीं। मैं हूं ना उसने जायेद खान की गर्ल फे्रंड मिनी का किरदार निभाया था।

आइटम बॉम्ब

राखी सावंत को बहुत पहले अहसास हो गया था कि अगर इंडस्ट्री में उसे बने रहना है तो अपनी सारी बंदिशें तोड़ कर उसे बिंदास बनना होगा। चाहे एक पार्टी में मिका सिंह के साथ का किस प्रकरण हो, बिग बॉस में एंट्री हो, राखी का स्वयंवर हो या चुनाव में खड़े होना हो, राखी जम कर अपनी वकालत करती है।

कोलंबो में एक स्टेज परफॉर्मेंस के दौरान वह सिर के बल गिर पड़ी थीं। काफी दिन अस्पताल में रहीं, कुछ दिनों तक याददाश्त भी गुम रही। अपने इस किस्से को भी वह चटपटे ढंग से सुनाती है कि मैं सही मायने में लेडी गजनी हूं।

मनोरंजन की ताज़ातरीन खबरों के लिए Gossipganj के साथ जुड़ें रहें और इस खबर को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और हमें Twitter पर लेटेस्ट अपडेट के लिए फॉलो करें।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like