रजनीकांत ने सबरीमाला मंदिर पर कहा, परंपराओं में बाहरी हस्तक्षेप नहीं होना चाहिए

रजनीकांत बहुत की कम मौकों पर मीडिया के सामने अपने बयान देते हैं। लेकिन हाल ही में थलाइवा ने केरल के सबरीमाला मंदिर के विवाद को देखते हुए मीडिया के सामने अपना बयान दिया है। दरअसल, यह बयान उन्‍होंने सबरीमला मंदिर में सभी आयु वर्ग की महिलाओं के प्रवेश की अनुमति देने वाले उच्चतम न्यायालय के आदेश और उसके बाद से हो रहे प्रदर्शनों को लेकर दिया है।

उन्होंने कहा कि शीर्ष अदालत के फैसले का सम्मान होना चाहिए हालांकि इस ओर भी इशारा किया कि बात जब धर्म एवं संबंधित रिति-रिवाजों की हो तो एहतियात बरतना चाहिए। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, सुपरस्टार रजनीकांत की फिल्म ‘2.0’ अगले महीने यानि 29 नवंबर को सिनेमाघरों में रिलीज कर दी जाएगी। इस फिल्म में अक्षय कुमार निगेटिव किरदार में नजर आएंगे।

सुपरस्‍टार रजनीकांत ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि प्रत्येक क्षेत्र में महिलाओं की बराबरी को लेकर कोई दूसरा मत नहीं है। लेकिन जब आप किसी मंदिर के बारे में बात करते हैं तो प्रत्येक मंदिर के कुछ रीति-रिवाज एवं परंपराएं होती हैं, जिनका लंबे समय से पालन हो रहा है। मेरी विनम्र राय यह है कि किसी को भी उसमें हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए।

You might also like