राज बब्बर , अभिनेता से राजनेता तक का सफ़र, जन्मदिन विशेष

राज बब्बर , अभिनेता से राजनेता तक का सफ़र, जन्मदिन विशेष , अभिनेता राज बब्बर का आज जन्मदिन है राज बब्बर जिनके बारे में क्या कहने वह अभिनय के साथ ही साथ राजनीती पारी भी बेहतरीन ढंग से खेल रहे है। राज बब्बर का जन्म 23 जून 1952 को उत्तर प्रदेश के टूंडला नामक स्थान पर हुआ था। राज के ही तरह उनके बेटे आर्य बब्बर व प्रतीक बब्बर भी फिल्मो में सक्रीय है।

फिलहाल राज बब्बर राज्य सभा सदस्य हैं। आज राज की गिनती कांग्रेस के स्टार प्रचारकों में होती है। राज ने 1977 में आई फिल्म ‘किस्सा कुर्सी का’ से बॉलीवुड में कदम रखा। इस फिल्म में राज को काम तो मिला पर पहचान नहीं। 1980 में बीआर चोपड़ा की फिल्म ‘इंसाफ का तराजू’ के बाद लोग राज को पहचानने लगे। इस फिल्म में राज एक बलात्कारी के किरदार में थे। ‘इंसाफ का तराजू’ में राज को फिल्म फेयर के बस्ट एक्ट अवॉर्ड के लिए भी नॉमिनेट किया गया था। राज बब्बर को लगभग अपनी हर फिल्म में काम देना शुरू कर दिया। निकाह, आज की आवाज, दहलीज, किरायेदार, आवाम और कल की आवाज जैसी फिल्में शामिल हैं।

अभिनेता व राजनेता राज ने दूसरी शादी अभिनेत्री स्मिता पाटिल से की थी और उनसे एक बेटा प्रतीक बब्बर हुआ। उसके पहले राज की पहली शादी नादिरा बब्बर से हुई थी और उन्हें बेटे बेटी के रूप में आर्य बब्बर और जूही बब्बर हुए थे। स्मिता पाटिल के देहांत के बाद राज फिर से अपनी पहली पत्नी नादिरा के साथ रहने लगे। अभिनेता राज ने वैसे तो बॉलीवुड कि कई सफलतम फिल्मों में अपने दमदार अभिनय कि छाप को छोड़ा है वह तो सभी जानते ही है लेकिन राज बब्बर का नाम अभिनेत्री स्मिता पाटिल के साथ में भी काफी सुर्खियों में रहा है। देखा जाए तो वैसे राज ने अपने करियर में कई सारी फिल्में की और ढ़ेरों दौलत और शोहरत कमाई। अभी फ़िलहाल राज बब्बर कांग्रेस पार्टी के एक कद्दावर नेता के रूप में कायर्रत है। 2014 में राज ने गाजियाबाद से लोकसभा चुनाव लड़ा, जिसमें वह बीजेपी नेता वी के सिंह से चुनाव हार गए।

You might also like