Gossipganj.com
Film & TV News

अमरीश पुरी यानि मोगैंबो ने आखिर क्यों लिया गंजे रहने का फैसला

अमरीश पुरी की शक्ल जेहन में आते ही सबसे पहले उनका गंजा सिर और धमकदार आवाज कौंधती है। बॉलीवुड के मोगेंबो अमरीश पुरी जो अपनी बुलंद आवाज़ और अद्भुत अभिनय से फिल्मों में जान डालने के लिए मशहूर थे। जिस तरह वह दुनिया से हटकर फिल्मों में अलग सी कलाकारी दिखाते थे उसी तरह उनका व्यक्तिगत जीवन भी कुछ हटकर था । एक साधारण व्यक्ति की तरह उनके करियर की शुरुआत 20-25 साल की उम्र में ना होकर करीब 40 साल की उम्र में हुई , जिस वक्त दुनिया खुद को हल्का हल्का थका हुआ महसूस करने लगती है पुरी ने उस वक्त खुद को महाखलनायक के रुप में उभार कर दुनिया को एक मिसाल दिया । परदे पर खलनायकी का रोल अदा कर दूनिया को सहमाने वाले महाखलनायक को एक समय में आम जनता हकीकत में ही खलनायक मान बैठी थी अंतत: उन्हें परदेस फिल्म करके खुद की छवि को सुधारना पड़ा।

अमरीश पुरी का जन्म पंजाब में अभिनेताओं के परिवार में हुआ था उनके दोनों भाई एक मंजे हुए अभिनेता थे फिर भी अमरीश पुरी को अपने अभिनय के करियर के लिए काफी जद्दो ज़हद करना पड़ा । अमरीश पुरी ने अपने भाई मदान पुरी और चमन पुरी के नक्शेकदम पर चलते हुए माया नगरी मुम्बई में कदम रखे ,लेकिन अमरीश पुरी को कहां पता था कि वह संघर्ष की दुनिया में कदम रखने जा रहे हैं। अमरीश पुरी को तो पूरा भरोसा था कि वह भी अपने भाईयों की तरह अभिनेता बनेंगे पर वह अपने पहले ही स्क्रीनिंग टेस्ट में ही फेल हो गए, पर उन्हें मिनिस्ट्री ऑफ लेबर एम्पलॉयमेंट में जॉब मिल गई । जॉब के साथ- साथ वह पृथ्वी थियेटर में अभिनय भी करते थे साथ ही कभी कभी विज्ञापन भी कर लिया करते थे। अमरीश पुरी की कोशिशें लगातार जारी रही , आखिरकार 40 की उम्र में आकर उन्होनें रेशमा और शहरा फिल्म से डेब्यू किया ।

1980 के दशक में पुरी ने ‘’हम पांच’’ फिल्म में मुख्य खलनायक की भूमिका अदा की और वह परदे पर सुपर हिट रही तब से अमरीश पुरी ने मन बना लिया कि वह खलनायक की ही भूमिका अदा करेंगे , और उन्होनें खलनायक की भूमिका में कई सुपर हिट फिल्में की । उनकी दमदार खलनायकी का सबसे बड़ उदाहरण है  “तहलका“  इस फिल्म  में उनका ‘ मोगेंबो ’ का किरदार इतना दमदार था कि बच्चे बच्चे की ज़बान पर केवल मोगेंबो का ही नाम था। धीरे धीरे उनके मन में खलनायक के किरदार को लेकर प्यार बढ़ता जा रहा था एक दिन खलनायक के लिए उनका प्यार इतना बढ़ गया था कि उन्होनें हमेशा के लिए गंजे रहने तक का मन बना लिया था। वाकिया तब का है जब उन्हें अमेरिकन एक्शन फिल्म इंडियाना जोन्स एंड द टेम्पल ऑफ धूम के लिए गंजा होना पड़ा,जिससे फिल्म में उनको बहुत सराहना मिली फिर तो अमरीश पुरी ने मन ही मना लिया कि वह हमेशा गंजे रहेंगे ।