Gossipganj.com
Film & TV News

रीना रॉय इस हसीन चेहरे को अब देखेंगे तो पहचान ही नहीं पाएंगे

रीना रॉय इस हसीन चेहरे को अब देखेंगे तो पहचान ही नहीं पाएंगे , ग्लैमर की दुनिया में जहां हर दिन एक सूरज उगता है तो कई सितारे डूब भी जाते हैं। वक़्त के साथ कुछ भुला दिए जाते हैं तो कुछ गुम हो जाते हैं! कुछ चेहरे भी इतने बदल जाते हैं कि उन्हें आप आसानी से पहचान नहीं पाते। कभी अपनी दिलकश अदाकारी और खूबसूरत सी मुस्कान के साथ लाखों दिलों पर राज करने वाली बीते ज़माने की अभिनेत्री रीना रॉय एक ऐसी ही नाम हैं।

अगर फिल्मों की बात करें तो साल 2000 में जेपी दत्ता की फिल्म ‘रिफ्यूजी’ के ज़रिए रीना रॉय आख़िरी बार बड़े पर्दे पर दिखी थीं। इसके बाद 2004 के टीवी शो ईना मीना डीका में रीना दिखाई दीं। इसके बाद रीना ग्लैमर की दुनिया से ओझल हो गई।

रीना रॉय इस हसीन चेहरे को अब देखेंगे तो पहचान ही नहीं पाएंगे

आपको बता दें कि साल 1976 में राजकुमार कोहली के निर्देशन में बनी फिल्म ‘नागिन’ में रीना रॉय ने इच्छाधारी नागिन की दमदार भूमिका निभाकर दर्शकों को रोमांचित कर दिया था। अगर आपने ‘नागिन’ फिल्म देखी है तो कभी नहीं भूल सकते। वर्ष 1977 में प्रदर्शित फिल्म ‘अपनापन’ रीना रॉय के करियर की उल्लेखनीय फिल्मों में शमिल है। इस फिल्म के लिये उन्हें सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री का फिल्म फेयर पुरस्कार दिया गया। रीना रॉय की जोड़ी शत्रुघ्न सिन्हा और सुनील दत्त के साथ काफी पसंद की गयी।

हाल ही में एक फंक्शन के दौरान वो दिखीं, तो यक़ीन नहीं हुआ कि ये वो ही रीना रॉय हैं, जिनकी झलकभर से लाखों दिलों को आराम मिलता था और जिनकी अदाएं टूटे हुए दिलों को जोड़ने का सबब बनती थीं। ऐसा लगता है कि बड़े पर्दे से दूर रीना ने ख़ुद को वक़्त के रहमोकरम पर छोड़ दिया है और ख़ूबसूरत दिखने की लालसा से समझौता कर लिया है। रीना को इस हाल में देखकर उनके उन फ़ैंस को करारा झटका लग सकता है, जिन्होंने 80 के दशक में रीना के हुस्न का जलवा देखा था।