पूजा भट्ट ने कहा | भारतीय मर्द कभी बूढ़े नहीं होते

पूजा भट्ट का मानना है कि फिल्म इंडस्ट्री में अपनी उम्र के 40वें दशक में पहुंचते ही महिलाओं को काम मिलना बंद होने लगता है जबकि पुरुष तब भी अपने से आधी उम्र के किरदार निभाते रहते हैं। पूजा भी ऐक्टिंग को अलविदा कह चुकी थीं लेकिन अब वह 18 साल बाद वह फिल्म ‘सड़क 2’ से सिल्वर स्क्रीन पर वापसी करने जा रही हैं।

अपनी वापसी पर पूजा ने कहा, ‘मैंने ऐक्टिंग को बाय-बाय बोल दिया था लेकिन एक बार जो ऐक्टर बन जाता है वह ऐक्टर ही रहता है। मेरी जिंदगी योजना बना कर नहीं चलती। जैसे मैं ऐक्टर बनना ही नहीं चाहती थी, मैं तो आर्किटेक्ट या ऐस्ट्रोनॉट बनना चाहती थी लेकिन उसके बाद ‘डैडी’ बन गई और इसके बाद सब इतिहास है।’

पूजा ने कहा, ‘भारत में पुरुष कभी बूढ़े नहीं होते, वे हमेशा जवान रहते हैं। उनसे कम उम्र की महिलाओं को उनकी मां का किरदार निभाने के लिए दे दिया जाता है। मैंने भी ‘जख्म’ में अजय देवगन की मां का रोल निभाया था क्योंकि यह रोल की डिमांड थी।’

बता दें कि ‘सड़क 2’ में पूजा भट्ट और संजय दत्त एक अधेड़ कपल के रूप में दिखेंगी। उनकी छोटी बहन आलिया भट्ट और आदित्य रॉय कपूर फिल्म में यंग कपल होगा। इस फिल्म का डायरेक्शन पूजा के पिता महेश भट्ट करने जा रहे हैं।

मनोरंजन की ताज़ातरीन खबरों के लिए Gossipganj के साथ जुड़ें रहें और इस खबर को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और हमें Twitter पर लेटेस्ट अपडेट के लिए फॉलो करें।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like