कमाल अमरोही की बेरूखी, धर्मेंद्र की बेवफाई ने मीना कुमारी को तोड़ दिया था, भाग-4

कमाल अमरोही की बेरूखी और धर्मेंद्र की बेवफाई ने मीना कुमारी को तोड़ दिया था , मीना कुमारी बॉलीवुड के आसमां का वो सितारा थीं, जिसे छूने के लिए हर कोई बेताब था।

मीना कुमारी के साथ काम करने वाले लगभग सभी कलाकार मीना की खूबसूरती के कायल थे, लेकिन मीना कुमारी तो मशहूर फिल्मकार कमाल अमरोही में प्यार में पागल थीं। उन्होंने कमाल से निकाह भी किया। लेकिन उन्हें कमाल की दूसरी पत्नी का दर्जा मिला।

10 साल के बाद धीरे-धीरे मीना कुमारी और कमाल के बीच दूरियां बढ़ने लगीं और फिर 1964 में मीना कुमारी कमाल से अलग हो गईं। इस अलगाव की वजह अभिनेता धर्मेद्र थे, जिन्होंने उसी समय अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की थी।

उस समय मीना कुमारी के सितारे बुलंदियों पर थे, उनकी एक के बाद एक फिल्म हिट हो रही थी। अपनी शोहरत के बल पर मीना कुमारी ने धर्मेद्र के करियर को ऊंचाइयों तक ले जाने की पूरी कोशिश की, लेकिन इतना सब करने के बाद भी मीना को धर्मेद्र से भी बेवफाई ही मिली।

यही वजह है कि ऐसा कहा जाता है कि कमाल अमरोही और मीना कुमारी के अलगाव का कारण धर्मेंद्र थे। धर्मेंद्र ने उसी समय फिल्मों  में अपने करियर की शुरुआत की थी। मीना कुमारी का सितारा उनदिनों बुलंदियों पर था और उनकी एक के बाद एक कई फिल्में हिट हो रही थीं। ऐसे में धर्मेंद्र के करियर को भी नई उड़ान मिली।

धर्मेंद्र और मीना कुमारी की नजदीकियां बढ़ने लगीं और दोनों के अफेयर की चर्चाएं होने लगी। इसके बाद धीरे-धीरे धर्मेंद्र के करियर ने भी रफ्तार पकड़ ली। धर्मेंद्र के करियर को ऊंचाई तक पहुंचाने के लिए मीना कुमारी ने उनका पूरा साथ दिया लेकिन इसके बावजूद उन्हें धर्मेंद्र से बेवफाई मिली।

फिल्म फूल और कांटे की सफलता के बाद, धर्मेद्र ने मीना कुमारी से दूरियां बनानी शुरू कर दीं और एक बार फिर से मीना कुमारी अपनी जिंदगी में तन्हा रह गईं। धीरे-धीरे शराब की लत की गिरफ्त में आ गईं और बीमार हो गईं।

धर्मेंद्र से मिली बेवफाई को मीना कुमारी बर्दाश्त नहीं कर पाईं और खूब शराब पीने लगीं। जिसकी वजह से उन्हेंम लीवर सिरोसिस नामक बीमारी से ग्रसित हो गईं। ऐसा कहा जाता है कि 29 मार्च 1972 को उन्हों्ने आखिरी बार कमाल अमरोही का नाम लिया और कोमा में चली गईं।

फिल्म पाकीजा के रिलीज होने के तीन हफ्ते बाद, मीना कुमारी गंभीर रूप से बीमार हो गईं। 28 मार्च, 1972 को उन्हें सेंट एलिजाबेथ के नर्सिग होम में भर्ती कराया गया। मीना ने 29 मार्च, 1972 को आखिरी बार कमाल अमरोही का नाम लिया, इसके बाद वह कोमा में चली गईं। मीना कुमारी महज 39 साल की उम्र में इस दुनिया को अलविदा कह गईं।

मनोरंजन की ताज़ातरीन खबरों के लिए Gossipganj के साथ जुड़ें रहें और इस खबर को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और हमें twitter पर लेटेस्ट अपडेट के लिए फॉलो करें।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like