माला सिन्हा ऐसे देती थीं इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को चकमा

माला सिन्हा (Mala Sinha) की अभिनय प्रतिभा ने हर किसी को अपना दीवाना बना लिया। 83वें जन्मदिन पर भी उनके चेहरे पर आज भी वही चमक बरकरार है। माला सिन्हा ऑल इंडिया रेडियो यानी आकाशवाणी की अनुमोदित गायिका रह चुकी हैं।

जब वह महज सोलह साल की थीं, तो उन्हीं दिनों आकाशवाणी के कलकत्ता (अब कोलकाता) केंद्र के स्टूडियो में लोकगीत गाया करती थीं। उन्होंने भले ही फिल्मों के लिए गीत न गाए हों, लेकिन 1947 से 1975 तक कई भाषाओं में मंच पर गायन किया।

उनका जन्म 11 नवंबर, 1936 को कलकत्ता के एक ईसाई परिवार में हुआ। उनके माता-पिता मूल रूप से नेपाल के रहने वाले थे। माला के जन्म से पहले ही वे कलकत्ता आकर बस गए।

माला सिन्हा की अनकही बातें

माला सिन्हा ने बांग्ला फिल्म से की शुरुआत

माला सिन्हा ने अपने करियर की शुरुआत एक बांग्ला फिल्म ‘जय वैष्णो देवी’ में एक बाल कलाकार के रूप में की। इसके बाद वह एक के बाद एक कई फिल्मों में अपनी अदाओं से दर्शकों को मोहती रहीं और नए कीर्तिमान स्थापित किए।

माला सिन्हा ने फिल्म इंडस्ट्री को कई हिट फिल्में दीं । माला सिन्हा उस जमाने में दर्शकों के दिलों पर राज करती थीं। उन्होंने पांच दशक तक सिनेमा जगत में काम किया। माला सिन्हा 11 नवंबर को अपना जन्मदिन मनाती हैं ।

माला सिन्हा को प्रोड्यूसर ने कहा अपना मुहं तो देखो!

शुरुआती दौर में जब वो एक बॉलीवुड प्रोड्यूसर से मिलीं तो उन्होंने माला की खूब बेइज्जती की थी। प्रोड्यूसर ने कहा कि पहले शीशे में जाकर अपना चेहरा तो देखो, ऐसी भद्दी नाक को लेकर हीरोइन बनने का सपना देखती हो।

लेकिन इसके बाद भी माला ने बॉलीवुड में अपना सिक्का जमा ही लिया। माला के पिता अल्बर्ट सिन्हा बंगाल से थे। इसी कारण लोग उन्हें नेपाली-भारतीय बाला कहते थे।

उनकी मां नेपाल की रहने वाली थीं। माला के बचपन का नाम आल्डा था। जब वो स्कूल जाती थीं तो उनके दोस्त उन्हें डालडा कहकर पुकारते थे। वहीं माला के माता-पिता उन्हें बेबी कहते थे। इसलिए कई दोस्त उन्हें डालडा सिन्हा तो कई बेबी सिन्हा कहने लगे। माला को ये दोनों ही नाम बिलकुल पसंद नहीं थे। इसलिए उन्होंने अपना नाम बदलकर माला सिन्हा रख लिया।

माला सिन्हा की मददगार थीं गीता बाली

माला एक बंगाली फिल्म के सिलसिले में मुंबई आई थीं। यहां उनकी मुलाकात अपने जमाने की फेमस एक्ट्रेस गीता बाली से हुई। उन्होंने ही माला को डायरेक्टर केदार शर्मा से मिलवाया। केदार शर्मा को माला बहुत पसंद आईं और उन्होंने अपनी फिल्म ‘रंगीन रातें’ में बतौर अभिनेत्री काम दिया।

कहा जाता है कि माला सिन्हा को बॉलीवुड में स्थापित करने वाले केदार शर्मा ही हैं। फिल्मों में काम करने से पहले माला रेडियो के लिए गाती थीं। माला बेहद खूबसूरत थीं इसलिए किसी ने उन्हें फिल्मों में काम करने की सलाह दी। सलाह मानकर माला मुंबई आ गईं। यहां उन्हें काफी इंतजार करना पड़ा।

एक प्रोड्यूसर ने तो माला को उनकी नाक को लेकर काफी बेइज्जत किया था। माला इस बात को कभी भूल नहीं पाईं। इसके बावजूद माला बॉलीवुड में काफी सक्सेस हुईं। 1957 में आई फिल्म ‘प्यासा’ की स्क्रिप्ट पहले मधुबाला के लिखी गई थी। लेकिन किसी वजह से मधुबाला इस फिल्म में काम नहीं कर पाईं और ये फिल्म माला सिन्हा को मिल गई।

इस फिल्म ने माला की किस्मत बदल दी। माला सिन्हा ने जीनत अमान और परवीन बॉबी पर एक ऐसा कमेन्ट किया था, जिसे सुन ये दोनों एक्ट्रेस काफी नाराज हुई थीं। उन्होंने दोनों एक्ट्रेस के बारे में कहा था कि ‘वे दोनों एक्ट्रेस कम और मॉडल ज्यादा हैं। मॉडल के पास दिखाने के लिए सिर्फ शरीर होता है।’

माला सिन्हा अपने जमाने की सदाबहार एक्ट्रेस रहीं और दर्शक उन्हें काफी पसंद करते थे। माला अपने पिता से बहुत डरती थीं। वे जब शूटिंग पर जाती थीं तो भले ही किसी भी लिबास में जाएं, लेकिन घर बड़ी सादगी के साथ आती थीं। माला के पिता ने कोई नौकर नहीं रखा था। इसलिए शूटिंग से घर लौटने के बाद वो किचन में खुद खाना बनाया करती थीं। माला सिन्हा के पति का नाम चिदंबर प्रसाद लोहानी है।

माला सिन्हा की बेटी प्रतिभा सिन्हा हुईं फ्लॉप

उनकी एक बेटी भी है, प्रतिभा। प्रतिभा ने बॉलीवुड में बड़े ही जोर-शोर से एंट्री की थी लेकिन उतनी ही तेजी से फ्लॉप भी हो गईं। बेटी के असफल होने के बाद माला सिन्हा ने पार्टीज में जाना बंद कर दिया। वो अब लाइम लाइट से काफी दूर रहती हैं।

माला सिन्हा इनकम टैक्स से बचने के लिए बाथरूम में रखती थीं पैसा

अपने दौर में माला सिन्हा बहुत कामयाब एक्ट्रेस थीं। यह बात अलग है कि फीस के रूप में काफी मोटी रकम हासिल करने वाली माला स्वभाव से बेहद कंजूस थीं, इसलिए आयकर की अदायगी को लेकर चतुराई के चक्कर में एक बार वे बुरी तरह फंस गई थीं।

एक बार उनके घर पर इनकम टैक्स वालों ने छापा मारा, जिसमें उनके बाथरूम की दीवार से 12 लाख रुपए बरामद हुए थे। इन पैसों को बचाने के लिए माला सिन्हा इस हद तक चली गई थीं कि उन्होंने कोर्ट में ये लिखकर दिया था कि उन्होंने ये पैसे फिजिकल रिलेशन बनाकर कमाए हैं।

आपको बता दें कि माला तब फिल्म इंडस्ट्री की बहुत चर्चित स्टार थीं। माला के लिए स्वयं को यूं पेश करना आसान कतई नहीं था, मगर अपने पिता की तरह वे भी पैसों की बेहद लालची थीं। आखिरकार माला ने कोर्ट में वो बात कुबूल की जैसा करने को वकील ने कहा था।

मनोरंजन की ताज़ातरीन खबरों के लिए Gossipganj के साथ जुड़ें रहें और इस खबर को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और हमें twitter पर लेटेस्ट अपडेट के लिए फॉलो करें।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like