लीजा रे को किलर फिगर के बावजूद क्यों छोड़नी पड़ी इंडस्ट्री

लीजा रे दिल्ली में एक इवेंट में शामिल होने आयी थी। लीजा ने अपनी कैंसर की लड़ाई और जिंदगी में अकेलेपन को लेकर पूरी बात बताई|

लीजा ने कहा-

‘मेरे डॉक्टर डर गए कि मुझे कई माइलोमा है। उस वक्त मैंने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। यहां तक कि जब उन्होंने कहा कि यह लाइलाज और घातक है। मैं उस वक्त यह सोच रही थी कि मेरा शरीर मुझे कई महीनों से संकेत देने की कोशिश कर रहा है और मैं उसे अनदेखा कर रही थी।

मुझे पता था कि कुछ गलत था लेकिन मुझे कुछ भी करने की हिम्मत नहीं थी, क्योंकि हम इग्नोर करने के आदी हो जाते हैं।’

लीजा रे

लीजा ने बताया कि

‘हमारे प्रोफेशन में अगर हम बीमार हैं तो हम घर नहीं जा सकते। आप दवा लीजिए और वापस काम पर आइए। जब हम कुछ करना चाहते हैं तो हम क्या करते हैं? हम व्यस्त रहते हैं। मैंने वही किया।

आखिर में मैं रुकी और अपने शरीर को सुना, उसे बेहतर किया और बदलाव हुआ। एक अजीब तरीके से, मुझे एहसास हुआ कि यह एक समय था। मुझे पता था कि मैं मरने वाली नहीं हूं लेकिन मुझे यह भी पता था कि यह आसान नहीं होगा।

‘मेरे पास एक ग्लैमरस फिगर था, एक सेक्स सिंबल थी लेकिन जब मैं शोहरत की ऊंचाईयों पर थी तब मुझे अकेलेपन का एहसास होता था। मुझे खुद से नफरत थी।

इन अनुभवों ने मुझे जिंदगी को खोजने वाला बना दिया। समाज आपको बताता है कि खुश रहने के लिए शोहरत, पैसा, प्रतिष्ठा चाहिए। मेरे पास वो सब कुछ था। इसके बावजूद मैं खुश नहीं थी।’

लीजा रे

वर्ष 2009 में लीजा रे मल्टीपल माइलोमा नाम के कैंसर से गुजर चुकीं हैं। यह एक रेयर कैंसर है। 2010 में स्टेम सेल ट्रांसप्लांट करवाकर उन्होंने यह जंग जीती। जानकारी के लिए बता दें की लीजा को दीपा मेहता की फिल्म ‘वॉटर’ के लिए जाना जाता है। इसके अलावा वो फिल्म ‘कसूर’, ‘वीरप्पन’ और ‘दोबारा’ जैसी फिल्मों में भी नजर आईं। साथ ही वो टीवी शो ‘एंडगेम’ और वेब सीरीज ‘फोर मोर शॉट्स प्लीज’ में भी काम किया है।

मनोरंजन की ताज़ातरीन खबरों के लिए Gossipganj के साथ जुड़ें रहें और इस खबर को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और हमें twitter पर लेटेस्ट अपडेट के लिए फॉलो करें।