जब हैरी मेट सेजल, फिल्म देखने लायक है, इम्तियाज़ अली का मेहनत रंग लाएगी

जब हैरी मेट सेजल, फिल्म देखने लायक है, इम्तियाज़ अली का मेहनत रंग लाएगी , डायरेक्टर इम्तियाज अली की नई फिल्म जब हैरी मेट सेजल आज बॉक्स ऑफिस पर रिलीज हो ही गई है। फिल्म की कहानी हरिंदर सिंह नेहरा यानि के हैरी और सेजल झावेरी यानि के सेजल की है। दोनों लोग की मुलाकात एक वर्ल्ड टूर के दौरान होती है, जिसमें सेजल एक टूरिस्ट है और अपना हैरी एक टूरिस्ट गाइड। परेशानी यह होती है कि इस टूर पर सेजल की सगाई वाली रिंग खो जाती है, जिसको ढ़ूढ़ने के लिए सेजल, हैरी की मदद मांगती है। अब न चाहते हुए भी हैरी को सेजल के साथ दोबारा वो सारी जगहें जानी पड़ती हैं, जहां वो उसे घुमा कर लाया है। सेजल को लगता है कि वापस से सब जगह जाकर अपनी रिंग ढ़ूंढ कर ले ही आयेगी।

इम्तियाज अली इस समय बॉलीवुड के सबसे बेहतरीन रोमांटिक फिल्मकारों में से एक गिने जाते हैं। लेकिन पिछले कुछ समय से वो एक परेशानी का सामना कर रहे हैं। वो परेशानी है ऑडियंस को कुछ नया न ऑफर कर पाना। फिल्म जब हैरी मेट सेजल भी इसी परेशानी का सामना करती है। यह भी इम्तियाज अली की पहले की फिल्मों की तरह दो अंजान लोगों की कहानी है, जो एक सफर के दौरान प्यार में पड़ जाते हैं।

जैसी की इम्तियाज अली की ज्यादातर फिल्मों में होता है, कुछ वैसा ही इस फिल्म में भी देखने को मिलेगा। दो अंजान लोग एक सफर के दौरान मिलते हैं और फिर वो लोग एक दूसरे को दिल दे बैठते हैं और अंत में एक दूसरे के हो जाते हैं।

फिल्म जब हैरी मेट सेजल में ज्यादातर स्क्रीन स्पेस शाहरुख खान और अनुष्का शर्मा को दिया गया है। यह लाजमी बात भी है क्योंकि यह कहानी ही इन दोनों की है। जहां शाहरुख खान ने फिल्म नें पंजाबी मुंड्डे का किरदार निभाया है तो अनुष्का शर्मा एक गुजराती लड़की बनी हैं। इम्तियाज अली ने शाहरुख खान और अनुष्का शर्मा दोनों के बी किरदारों को कॉम्पेलेक्स्ड रखा है।

फिल्म का म्यूजिक पहले से ही हिट हो चुका है। जब हैरी मेट सेजल का लगभग हर गाना म्यूजिक चार्ट पर सबसे आगे है। बात की जाए इन गानों की फिल्में तो पहले भाग में आये गाने सफर और राधा सिचुएशन पर ठीक बैठते हैं लेकिन जब दूसरे भाग में गाने आते हैं तो वो फिल्म की कहानी को उस तरह से मदद नहीं कर पाते हैं।

You might also like