वुल्वरीन बनना ज़रूरी था, ह्यू जैकमैन का खुलासा

वुल्वरीन बनना ज़रूरी था, ह्यू जैकमैन का खुलासा , एक्टर ह्यू जैकमैन को आपने X-Men सीरीज़ में वुल्वरीन के अवतार में देखा होगा और उनकी पॉवर्स से इंप्रेस भी हुए होंगे, लेकिन एक वक़्त था जब जैकमैन की माली हालत बहुत ख़राब थी। अगर ये फ्रेंचाइजी ना मिलती तो जैकमैन की ज़िंदगी तबाह हो सकती थी।

एक्स-मैन सीरीज़ की पहली फ़िल्म के दौरान जैकमैन को स्टूडियो एक्ज़ीक्यूटिल टॉम रॉथमैन के साथ क़रीब एक महीना बिताने का समय मिला, जो उनके करियर के लिए एक शानदार मोड़ साबित हुआ। जैकमैन कहते हैं- ”उन्होंने मुझसे कहा कि उन्हें मुझ पर भरोसा है। जब से उन्होंने मेरा टेप देखा, उन्हें लगता था कि मैं ही वो इंसान हूं। लेकिन रोज़ मेरा काम देखना उनके लिए ऐसा था जैसे किसी ने लाइट पर लैंपशेड रख दिया हो।”

बहरहाल ह्यू जैकमैन ने एक्स-मैन सीरीज़ की फ़िल्मों से साथ दुनिभाभर में लोकप्रियता हासिल की। इस सीरीज़ के सभी किरदारों में जैकमैन का करेक्टर वुल्वरीन सबसे ज़्यादा पसंद किया जाता है। जैकमैन अब इस सीरीज़ की अगली फ़िल्म लोगन में नज़र आएंगे, जो 3 मार्च को रिलीज़ हो रही है। फ़िल्म में उनका किरदार उम्रदराज़ दिखाया गया है।

ह्यू जैकमैन ने ये शॉकिंग कन्फेशन प्रोड्यूसर्स गिल्ड अवॉर्ड्स के दौरान किया। जैकमैन ने बताया कि साल 2000 में जब उन्होंने एक्स-मैन सीरीज़ में काम करना शुरू किया था, तो उस वक़्त वो संघर्ष कर रहे थे और काफी नर्वस थे। दिलचस्प बात ये है कि जिस Wolverine के आज दुनियाभर में लाखों फैंस हैं, उस वक़्त उनके काम को प्रोड्यूसर्स ने ख़ास तवज्जो नहीं दी थी। ह्यू जैकमैन ने कहा- ”ईमानदारी से कहूं तो मैं संघर्ष कर रहा था। अमेरिका में ये मेरी पहली फ़िल्म थी। मैं काफी चिंतित था। बेस्ट करने की कोशिश में भी मैं एवरेज ही रहा।”

You might also like