यश राज बैनर के पीछे की कहानी कोई नहीं जानता आप जान लें

यश राज बैनर के पीछे की कहानी कोई नहीं जानता आप जान लें,  इसमें कोई शक नहीं कि फिल्मकार यश चोपड़ा का बैनर ‘यश राज फिल्म्स’ देश का सबसे बड़ा बैनर है। ये तो सभी जानते हैं कि ‘यश राज’ में ‘यश’ जो है वो यश चोपड़ा के नाम से है, लेकिन ‘राज’ कहां से आया, इसका जवाब किसी ने आज दावे के साथ नहीं दिया है। इस ‘राज’ का राज जानने के लिए कई साल पीछे यानी राजेश खन्ना के दौर में जाना होगा। उस जमाने में यह चर्चा थी कि ‘राज’ यानी राजेश खन्ना, जिनकी आज जन्मदिन है।

यश चोपड़ा पहली बार अपने दम पर फिल्म बनाने निकले थे। धन की दिक्कत तो थी ही क्योंकि उनके बैनर के लिए यह शुरूआत थी। फायनेंसर्स ढूंढने में भी दिक्कत आ रही थी। ऐसे में राजेश खन्ना ने उनकी काफी मदद की। 1969 में वे अपनी फिल्म ‘इत्तेफाक’ में राजेश को निर्देशित कर चुके थे। जब यश ने राजेश से ‘दाग’ में काम करने की बात की तो राजेश खन्ना तुरंत तैयार हो गए जबकि वे सुपरस्टार बन चुके थे।

राजेश जानते थे कि कंपनी नई है और दिक्कतें भी हैं तो उन्होंने यश से यह तक कह दिया था कि फीस की चिंता वे न करें, बस फिल्म बनाना शुरू करें और वाकई में शूट के दौरान भी राजेश ने यश की हर संभव मदद की। उस जमाने में कई पत्रिकाओं ने यह लिखा था और इंडस्ट्री में भी चर्चा होती थी कि राजेश की उदारता से प्रभावित होकर ही चोपड़ा ने अपनी कंपनी का नाम ‘यश'(यश चोपड़ा) और ‘राज'(राजेश) रखा है। वैसे इस बात का कोई भी जिक्र यश चोपड़ा की तरफ से कभी नहीं हुआ, ना ही राजेश खन्ना ने कभी कहा।’

बता दें कि ‘दाग’ की शुरुआत बॉक्स ऑफिस पर ठीक नहीं थी, क्योंकि शादी के बाद यह राजेश खन्ना की पहली फिल्म थी। धीरे-धीरे भीड़ बढ़ने लगी और फिल्म हिट साबित हुई। राजेश ने भी चैन की सांस ली है कि उनकी रोमांटिक हीरो की इमेज अभी भी अडिग है। ऐसा नहीं है कि इस बैनर के अलावा यश चोपड़ा ने किसी के लिए निर्देशन नहीं किया था। ‘यश राज’ शुरू करने से पहले वे अपने भाई बीआर चोपड़ा के लिए उनके बैनर ‘बी आर फिल्म्स” के लिए फिल्में बना चुके थे।

मनोरंजन की ताज़ातरीन खबरों के लिए Gossipganj के साथ जुड़ें रहें और इस खबर को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और हमेंTwitterपर लेटेस्ट अपडेट के लिए फॉलो करें।

You might also like