Gossipganj
Film & TV News

कमला पसंद के चक्कर में करण जौहर जा सकते हैं जेल!

1

कमला पसंद के चक्कर में करण जौहर जा सकते हैं जेल! स्टार प्लस के चर्चित रियलिटी शो इंडिया नेक्स्ट सुपरस्टार में कमला पसंद पान मसाले का एड दिखाना चैनल मालिकों के साथ-साथ धर्मा प्रोडक्शन, एंडमोल प्रोडक्शन कंपनी, कमला पसंद कंपनी, करण जौहर और रोहित शेट्टी के लिए परेशानी का सबब बन सकता है। सिगरेट एंड अदर टोबैको प्रोडक्ट्स एक्ट (कोटपा) 2003 के तहत इन लोगों को दिल्ली हेल्थ डिपार्टमेंट ने नोटिस जारी किया है। करण और रोहित शेट्टी इस शो के जज हैं। वहीं, शो की शुरुआत में धर्मा प्रोडक्शन का नाम आता है। इसलिए इन्हें नोटिस जारी किया गया है।

इंडिया नेक्स्ट सुपरस्टार को ज्यादातर यंगस्टर्स देखते हैं। रियलिटी शो में कमला पसंद को प्रमोट किया जा रहा है। हमारा मकसद तंबाकू के इस्तेमाल पर रोक लगाना है। 10 दिन में जवाब नहीं मिला तो हम कोर्ट में केस दाखिल करेंगे। उन्हें एड बंद करना होगा। इंडिया नेक्स्ट सुपरस्टार जीतने वाले प्रतिभागी को करण जौहर अपने धर्मा प्रोडक्शन बैनर के तले बनने वाली फिल्म में काम करने का मौका देंगे।

अफसरों का कहना है कि जल्द एड बंद नहीं किया गया तो इसमें सबसे ज्यादा नुकसान करण जौहर को हो सकता है, क्योंकि कोटपा एक्ट का वॉयलेशन करने में उन्हें दूसरी बार नोटिस भेजा गया है। ऐसे में उन्हें 5 साल जेल और दो हजार जुर्माना चुकाना हो सकता है। इस शो से जुड़े सभी लोगों को ‘सेरोगेटेड एड’ दिखाने का भी दोषी पाया गया है। नोटिस में सभी से 10 दिन में जवाब मांगा गया है, नहीं तो उनके खिलाफ दिल्ली हेल्थ डिपार्टमेंट केस दायर करेगा।

3 नवंबर को रिलीज हुई शाहरुख खान, सिद्धार्थ मल्होत्रा और अक्षय खन्ना स्टारर मूवी इत्तफाक का पोस्टर दिल्ली समेत देशभर में इसीलिए हटवा दिया गया था, क्योंकि इसके पोस्टर में अक्षय खन्ना सिगरेट पीते नजर आ रहे थे। यह मूवी शाहरुख खान की प्रोडक्शन कंपनी रेड चिलीज और करण जौहर की धर्मा प्रोडक्शन ने साथ में प्रोड्यूज की थी।

इस फिल्म को भी दिल्ली हेल्थ डिपार्टमेंट की ओर से नोटिस जारी किया गया था। करीब एक महीने पहले गुड़गांव में होने वाले एक सिंगिंग कंसर्ट में भी तंबाकू कंपनी की ओर से स्पॉन्सरशिप किए जाने के मामले में नोटिस भेजा गया था। दिल्ली हेल्थ डिपार्टमेंट में टोबैको कंट्रोल सेल के इंचार्ज और एडिशनल डायरेक्टर डॉ. एसके अरोड़ा ने बताया कि कोटपा एक्ट-2003 में सेक्शन 5 के तहत यह नोटिस जारी किया गया है। सेरोगेटेड एड की मनाही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.