Gossipganj.com
Film & TV News

ग्लोबल ब्रांड बना भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल

0

ग्लोबल ब्रांड बनना आसान नहीं होता। बंजारा इंटरनेशनल टूरिंग फिल्म फेस्टिवल की कोशिश है कि भारत की फिल्मों की चमक विदेशों की धरती पर भी दिखाई दे। इसकी शुरुआत हो चुकी है। हलांकि पहले ये सिर्फ भारत में हुआ करता था लेकिन अब बंजारा इंटरनेशनल टूरिंग फिल्म फेस्टिवल दुनिया के हर कोने में होने जा रहा है। शुरुआत इटली से होगी। जी हां जनवरी 2019 नोट कर लीजिए। नए साल के पहले ही महीने में इंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में बड़ा धमाका होगा। चलिए तारीख भी बता देते हैं। टूरिंग फिल्म फेस्टिवल का चौथा एडिशन 17 से 20 जनवरी २०१९ तक इटली के शहर Caltanissetta में आयोजित होगा।

दरअसल इंडिपेंडेंट फिल्म्स को प्रमोट करने के लिए प्रख्यात बंजारा इंटरनेशनल टूरिंग फिल्म फेस्टिवल अपने पहले इंटरनेशनल टूर का आगाज नए साल से कर रहा है नए और अलग आइडिया के साथ विश्व का पहला ग्लोबल ट्रैवलिंग फिल्म फेस्टिवल सबको सरप्राइज़ देने जा रहा है।

बात करें तो इस फेस्टिवल की शुरुआत साल 2014 में नवी मुंबई अंतरराष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल के नाम से हुई थी। उसके बाद लगातार तीन साल तक इसका सफलतापूर्वक आयोजन किया जाता रहा। 3 साल के अंदर ही भारत और दूसरे मुल्कों में इस फिल्म फेस्टिवल ने अपनी ज़ोरदार उपस्थिति दर्ज करा दी।

35 देशों से 300 फिल्मों का कारवां इसके पहले एडिशन में शामिल हुआ था जो अब 4 सालों के दरमियान 80 देश और 1700 फिल्मों का हो चुका है। कहते भी हैं कि हम अकेले ही चले थे जानिब-ए-मंज़िल मगर, लोग साथ आते और कारवां बनता गया। लेकिन सभी तो ऐसे ही फिल्म फेस्टिवल करते हैं। कुछ नया करने की सोच ने ही इस इवेंट के फाउंडर और मैनेजिंग डायरेक्टर कैप्टन सचिन खन्ना को टूरिंग फिल्म फेस्टिवल शुरु करने के लिए प्रोत्साहित किया। वैसे तो अंगेस्ट द स्ट्रीम जाने की सबमें हिम्मत नहीं होती लेकिन कैप्टन सचिन खन्ना ने जो सोचा उस पर काम करना शुरु कर दिया। जिसका नतीजा अब सामने आ रहा है।

कैप्टन सचिन खन्ना के मुताबिक विश्व के सारे फिल्म फेस्टिवल किसी  ना किसी शहर में होते हैं जहां लोग फिल्में देखने के लिए दूर दूर से उस शहर में आते है मगर हमने कुछ अलग करने का सोचा कि, क्यों ना  हम चुनी हुई बेस्ट फिल्मों को और अपने फेस्टिवल को ही विश्व के अलग अलग शहरों में लेकर जाएं. इससे एक तो ब्राण्ड बड़ा होगा और दूसरा अच्छी फ़िल्मों को  बड़ा ग्लोबल प्रमोशन मिल सकेगा जो आज के वक़्त में इंडिपेंडेंट फ़िल्म मेकर्ज़ की सबसे बड़ी ज़रूरत है।

हलांकि नवी मुंबई से शुरु हुआ ये सफर आसान नहीं था। टूरिंग फिल्म फेस्टिवल के कॉन्सेप्ट की बुनियाद मध्यप्रदेश के जबलपुर शहर में रखी गई और तीसरे एडिशन को नवी मुंबई से ले जाकर उसे जबलपुर में आयोजित किया गया लेकिन वो सफर ही कैसा जो थम जाए। सो चौथा एडिशन इस बार इटली में हो रहा है।

इटली में इसके सफल आयोजन के बाद जून/जुलाई में नीदरलैंड में और दिसंबर 2019 के अंत तक सिंगापुर में इस टूरिंग फिल्म फेस्टिवल का आयोजन किया जाएगा।

दुष्यंत कुमार जी का शेर है जो अक्सर लोग सुनते हैं और सुनाते आए हैं। वो कैप्टन सचिन खन्ना पर सटीक बैठता है। कौन कहता है कि आसमां में सूराख हो नहीं सकता, एक पत्थर तो तबियत से उछालो यारों। इतना ही नहीं बंजारा टूरिंग फिल्म फेस्टिवल साल 2022 तक एक साल में 6 इवेंट और अगले ५ सालों में एक साल में १२ एडिशंस करवाएगा जिसका मतलब है हर महीने एक फिल्म फेस्टिवल, एक अलग देश में।

अगर बात करें 17 जनवरी से 20 जनवरी तक इटली में होने वाले फिल्म फेस्टिवल की तो इसमें कुल ४ दिनो के फ़ेस्टिवल में ७० अंतरराष्ट्रीय फ़िल्मे दिखाई जाएँगी जिनमें ३५ भारतीय फ़िल्मे भी हैं। अगले एडिशन्स में क्वालिटी फ़िल्मों के सेलेक्शन पे ज़्यादा ज़ोर होगा। इस फ़ेस्टिवल का पांचवा एडिशन, जनवरी 2019 के आखिरी सप्ताह में ओपन हो जाएगा और नयी फ़िल्मों को सम्मिट किया जा सकेगा।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Loading...