एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा फिल्म रिव्यू | मनोरंजक फिल्म

60%
Good
  • Gossipganj Rating

एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा एक मनोरंजक फिल्म है। एक अनछुए सामाजिक मुद्दे को सटीक ढंग से दर्शकों तक पहुंचाने की कोशिश की गई है। वैसे बॉलीवुड में हमेशा से सामाजिक मुद्दों को ध्यान में रखकर कहानियां लिखी और पर्दे पर उतरी जाती रही हैं। लेकिन ये कहना गलत नहीं होगा कि ऐसी ज्यादातर फिल्मों को आर्ट फिल्म करार कर दिया जाता था। पहले और अब के बॉलीवुड में काफी बदलाव आ चुका है। आज कई बोल्ड सब्जेक्ट्स पर फीचर फिल्मस बनाई जाने लगी हैं। ऐसी एक फिल्म आज रिलीज हुई है। सोनम कपूर और राजकुमार राव स्टारर ‘एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा’ सिनेमाघरों में आ चुकी है। फिल्म को फैंस और क्रिटिक्स से काफी स्ट्रॉन्ग रिव्यूज मिल रहे हैं।

बता दें कि इस फिल्म को शैली चोपड़ा धर डायरेक्ट कर रही हैं और बतौर डायरेक्टर यह उनकी पहली फिल्म है। इससे पहले अनिल कपूर की फिल्म ‘1942 ए लवस्टोरी’ को शैली चोपड़ा के भाई विधु विनोद चोपड़ा ने डायरेक्ट किया था। इस फिल्म में अनिल कपूर और जूही चावला 9 साल बाद बड़े पर्दे पर साथ नजर आने वाले हैं। फिल्म में एकबार फिर से राजकुमार राव अपने अंदाज में फैंस का दिल जीतते नजर आएंगे। वैसे फिल्म कुल मिला कर मनोरंजक है।

समलैंगिक रिश्तों पर बनी इस फिल्म में सोनम कपूर एक ऐसी लड़की का किरदार निभा रही हैं जो बचपन में फिल्में देखकर शादी के ख्वाब बुनने लगती है। बड़े होकर उसकी फैमिली उसके इस सपने को पूरा करने में लग जाती है लेकिन इस सबके बीच में अब सोनम इस शादी से खुश नहीं हैं। फिल्म में सोनम कपूर किसी लड़के या फिल्म के हीरो राजकुमार राव से नही बल्कि एक लड़की से प्यार करती हैं। सोनम को एक लड़की से प्यार है और जब घरवालों को पता चलता है कि उनकी बेटी समलैंगिक है तो वो उसकी शादी किसी भी लड़के से कराने को तैयार हो जाते हैं। सोनम परिवार और प्यार की लड़ाई में कैसे अपनी पहचान के लिए लड़ेंगी यही इस फिल्म में दिखाया गया है।

60%
Good
  • Gossipganj Rating
You might also like