पद्मावत पर बैन के लिए सुप्रीम कोर्ट जा सकती है वसुंधरा सरकार!

0
236
पद्मावत

पद्मावत पर बैन के लिए सुप्रीम कोर्ट जा सकती है वसुंधरा सरकार! संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावत’ को सुप्रीम कोर्ट से हरी झंडी मिलने के बावजूद राज्य सरकारें कानूनी लड़ाई लड़ने की तैयारी में हैं। वसुंधरा राजे सरकार सुप्रीम कोर्ट के फैसले को चुनौती देने के मूड में है। राजस्थान सरकार ने इस मामले में गृह और कानून मंत्रालय के अधिकारियों की कमेटी बनाई है, जो सुप्रीम कोर्ट के फैसले की समीक्षा करेगी। जानकारी के मुताबिक पद्मावत को लेकर गठित की गई ये कमेटी दिल्ली भेजी गई है।

राजस्थान सरकार की तैयारी

राजस्थान सरकार की ओर से सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दायर की जा सकती है। राज्य के कानून मंत्री राजेंद्र राठौड़ ने बताया कि अधिकारियों की टीम सुप्रीम कोर्ट के फैसले का अध्ययन कर रही है, जिसके बाद चुनौती के विकल्पों पर विचार किया जाएगा। दूसरी तरफ अजमेर में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से राजपूत समाज के लोग मिले और उन्होंने सीएम से फिल्म पद्मावत पर बैन लगाने की मांग दोहराई। जिस पर राजे ने कहा कि उन्होंने पहले ही फिल्म को बैन करने का फैसला लिया था, अब सुप्रीम कोर्ट के फैसले का अध्ययन करने के बाद हम आगे का विचार करेंगे कि कैसे फिल्म को रिलीज होने से रोका जा सकता है।

मध्यप्रदेश सरकार की मामले पर नज़र

मध्यप्रदेश सरकार का भी कहना है कि वे सुप्रीम कोर्ट के आदेश का अध्ययन करने के बाद आगे क्या करना है, यह तय करेगी। बता दें कि राजपूत संगठनों के विरोध और धमकी के बाद हरियाणा, राजस्थान, गुजरात और मध्यप्रदेश में फिल्म के प्रदर्शन पर रोक लगा दी गई थी, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने चारों राज्यों के फैसले को उलटते हुए फिल्म पर लगे बैन को हटा दिया।

सुप्रीम कोर्ट ने हटा दिया था बैन

सुप्रीम कोर्ट ने विवादित फिल्म ‘पद्मावत’ को दिया गया सेंसर बोर्ड का प्रमाण-पत्र रद करने की मांग करने वाली जनहित याचिका पर तत्काल सुनवाई का आग्रह ठुकरा दिया था। मुख्य न्यायाधीश जस्टिस दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति एएम खानविलकर और न्यायमूर्ति डीवाई चंद्रचूड़ की पीठ ने वकील एमएल शर्मा द्वारा दायर ताजा याचिका पर तत्काल सुनवाई से इनकार करते हुए कहा कि कानून व्यवस्था कायम रखना हमारी जिम्मेदारी नहीं है। याचिकाकर्ता वकील ने केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) द्वारा ‘पद्मावत’ को दिए गए यू/ए प्रमाण-पत्र को रद किए जाने की मांग की थी। सुप्रीम कोर्ट ने फिल्म की 25 जनवरी को देशभर में रिलीज का रास्ता साफ कर दिया है।

इसे भी पढ़िए:   खेसारी लाल ने सबके सामने अक्षरा सिंह को कही ऐसी बात कि वो...

करण सेना उतर सकती है हिंसा पर

खुफिया सूचनाओं के अनुसार फिल्म पद्मावत रिलीज होती है तो कानून व्यवस्था की स्थिति बिगड़ सकती है। फरीदाबाद में टिकट काउंटर को जला दिया गया। ‘पद्मावत’ के विरोध में गुरुवार रात करीब 10 बजे सेक्टर-12 स्थित सीटीसी मॉल में घुसकर चार-पांच युवकों ने मल्टीप्लेक्स के टिकट काउंटर पर आग लगा दी, काउंटर बंद हो चुका था। भागते युवकों ने करणी सेना जिंदाबाद के नारे लगाए।

सुप्रीम कोर्ट ने पद्मावत पर सुनवाई करते हुए आदेश दिया है कि फ़िल्म सभी राज्यों में रिलीज़ की जाए। इसके बाद करणी सेना ने इसका विरोध किया है। उनका विरोध अदालत के साथ साथ सड़क की राह पर भी है। करणी सेना का कहना है कि उन्हें ऑर्डर की कॉपी मिल गई है। वह हर हाल में संशोधन के लिए सुप्रीम कोर्ट जाएंगे। बताया जा रहा है कि दोपहर बाद करणी सेना याचिका दायर कर सकती है। राजपूत करणी सेना का कहना है कि वह सुप्रीम कोर्ट के आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट की डबल बेंच में याचिका दायर कर फिल्म पर पूरी तरह प्रतिबंध लगाने की मांग करेगी। एक वीडियो संदेश में संगठन के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी ने कहा कि फिल्म पर प्रतिबंध लगाने के लिए वे लोग राष्ट्रपति से मिलने की कोशिश भी करेंगे। उन्होंने कहा कि वे इस फिल्म का प्रदर्शन नहीं होने देंगे।

इसे भी पढ़िए:   फन्ने खां का लोगो हुआ जारी, प्रोड्यूसर प्रेरणा अरोरा का जन्मदिन गिफ्ट

करणी सेना के अध्यक्ष ने कहा कि उन्होंने इस संबंध में प्रधानमंत्री को पत्र लिखा है और जल्द ही राष्ट्रपति से मिलने की कोशिश करेंगे। उन्होंने घोषणा करते हुए कहा 24 जनवरी को चित्तौड़गढ़ में हजारों महिलाएं जौहर करेंगी। उन्होंने कहा कि जहां आम आदमी को अगली तारीख जानने के लिए महीनों चक्कर लगाने पड़ते हैं, वहीं संजय लीला भंसाली की याचिका पर तुरंत सुनवाई होना ‘सर्वोच्च न्यायालय के कामकाज पर सवाल उठाता है।’ सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बारे में पूछने पर राजस्थान के गृह मंत्री गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि उन्हें अभी ही न्यायालय के आदेश की जानकारी मिली है। इस आदेश की समीक्षा करने के बाद निर्णय लिया जाएगा।

असदुद्दीन ओवैसी भी कूदे पद्मावत की जंग में

फिल्म पद्मावत के विवाद में एआईएमआईएम के प्रमुख और हैदराबाद के सासंद असदुद्दीन ओवैसी भी कूद पड़े हैं।एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी के बाद अब हैदराबाद के बीजेपी विधायक टी राजा सिंह ने फिल्‍म ‘पद्मावत’ के विरोध के लिए लोगों को किसी भी हद तक जाने का एलान किया है। उन्‍होंने इस फिल्‍म का विरोध करने के लिए ‘पद्मावत’ दिखाने वाले सिनेमाघरों को जलाने तक की बात कही है। टाइम्‍स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार ओवैसी से एक कदम आगे बढ़ते हुए टी राजा ने एक वीडियो में कहा, ‘मैं लोगों से इस फिल्‍म का विरोध करने की विनती करता हूं। जो भी थिएटर यह फिल्‍म दिखाए, आप उसे आप तहस नहस कर दें, वहां आग लगा दें। आप यह कोशिश करें कि संजय लीला भंसाली जैसे डायरेक्‍टर को बुरी तरह नुकसान हो और कोई भी और निर्देशक इतिहास के साथ कभी छेड़छाड़ न करे।’

इसे भी पढ़िए:   देवेंद्र फडणवीस के सामने ही उनकी पत्नी अमृता फडणवीस के साथ जमकर नाचे बिग बी

टी राजा ने कहा, ‘डायरेक्‍टर ने सिर्फ फिल्‍म का नाम ‘पद्मावती’ से बदलकर ‘पद्मावत’ कर दिया है, लेकिन फिल्‍म की स्क्रिप्‍ट वैसी ही है।’ बता दें कि एक दिन पहले ही हैदराबाद से लोक सभा के सदस्य ओवैसी ने बुधवार को वारंगल जिले में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, ‘फिल्म देखने न जाएं। ईश्वर ने आपको दो घंटे की फिल्म देखने के लिए नहीं बनाया है।’ उन्होंने कहा, ‘‘ नरेंद्र मोदी (प्रधानमंत्री) ने उस फिल्म के लिए 12 सदस्यों की एक समिति गठित की।। (लेकिन) किसी ने भी हमारे खिलाफ कानून (तीन तलाक खत्म करने) बनाते वक्त हमसे राय-मश्विरा नहीं किया।’’ ओवैसी ने कहा, ‘‘फिल्म बहुत बुरी और बकवास है।।मुस्लिम समुदाय को राजपूतों से सीखना चाहिए जो फिल्म को रिलीज नहीं होने देने के लिए एकजुट हैं।’’

जयपुर में 24 जनवरी से शुरू हो रहे जयपुर साहित्य उत्सव (जेएलएफ) पर भी पद्मावत विवाद की छाया रहने वाली है। करणी सेना ने सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष प्रसून जोशी को इसमें शामिल नहीं होने देंने की बात कही है। करणी सेना ने धमकी दी है कि प्रसून जोशी को राजस्थान में घुसने नहीं देंगे। राजस्थान के राजपूत नेताओं के बारे में पिछले दिनों विवादित टिप्पणी करने वाले फिल्म लेखक जावेद अख्तर का भी विरोध किया जा रहा है।

बता दें कि ‘पद्मावत’ 25 जनवरी को सिनेमाघर में रिलीज होने वाली है। इस फिल्‍म का विरोध देशभर में हो रहा है। इस फिल्‍म में रणवीर सिंह, शाहिद कपूर और दीपिका पादुकोण नजर आएंगे। यह पहली फिल्‍म है जिसमें भंसाली के साथ शाहिद कपूर काम करते नजर आएंगे। इस फिल्‍म पर 4 राज्‍यों ने बैन लगा दिया था, लेकिन सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद पूरे देश में इस फिल्‍म की रिलीज को हरी झंडी मिल चुकी है।

LEAVE A REPLY