मनोज तिवारी के वीडियो के चक्कर में AAP को 500 करोड़ का नोटिस

मनोज तिवारी का वीडियो शेयर कर आम आदमी पार्टी बुरे फंस गई है। बीजेपी ने रविवार को आम आदमी पार्टी (AAP) को 500 करोड़ रुपए का मानहानि का नोटिस भेजा है। पार्टी का दावा है कि दिल्ली विधान सभा चुनाव के लिए दिल्ली की सत्ताधारी पार्टी के प्रचार अभियान की धुन पर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी को डांस करते हुए दिखाकर उनकी और पार्टी की छवि को नुकसान पहुंचाया है।

आम आदमी पार्टी (AAP)द्वारा 11 जनवरी को ट्विटर पर साझा किए गए वीडियो में मनोज तिवारी के भोजपुरी एल्बमों का एक संपादित संस्करण “लगे रहो केजरीवाल” साउंडट्रैक के साथ दिखाया गया है। इस वीडियो के कैप्शन में लिखा गया है कि ‘”लगे रहो केजरीवाल” गीत इतना अच्छा है कि सर मनोज तिवारी भी डांस कर रहे हैं।’

भाजपा दिल्ली ने इस वीडियो के खिलाफ राज्य निर्वाचन आयोग से शिकायत की है। अपनी शिकायत में भाजपा ने कहा है कि आम आदमी पार्टी ने फर्जी वीडियो बनाया है और उसे सर्कुलेट किया है। इस वीडियो का उद्देश्य हमारी पार्टी और प्रचारक मनोज तिवारी की इमेज को खराब करना है। भाजपा ने आप के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है और ट्विटर से वीडियो हटाने की मांग की है।

बता दें कि इससे पहले भाजपा ने भी अरविंद केजरीवाल का एक स्पूफ वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया था। इस वीडियो का टाइटल ‘पाप की अदालत’ दिया गया है। इसमें केजरीवाल के कथित यू-टर्न पर निशाना साधा गया है। वहीं आम आदमी पार्टी ने इस वीडियो को बोरिंग करार दिया है।

भाजपा और आप के बीच जारी इस वीडियो वॉर से पहले केजरीवाल और दिल्ली बीजेपी चीफ मनोज तिवारी ट्विटर पर आपस में भिड़ चुके हैं। दरअसल मनोज तिवारी ने एक ट्वीट में कहा था कि उनकी सरकार के सत्ता में आने के बाद आम आदमी पार्टी की तुलना में पांच गुना सब्सिडी देने की बात कही थी। तिवारी के इस ट्वीट पर केजरीवाल ने पलटवार करते हुए भाजपा शासित राज्यों में अपने इस वादे को लागू करने की चुनौती दी थी।

मनोरंजन की ताज़ातरीन खबरों के लिए Gossipganj के साथ जुड़ें रहें और इस खबर को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और हमें twitter पर लेटेस्ट अपडेट के लिए फॉलो करें।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like