देबिना बनर्जी ने कहा रामायण की शूटिंग का हर पल यादगार था

देबिना बनर्जी ने अपने रामायण की शूटिंग के दौर के अनुभव को साझा किया। आनंद सागर के रामायण ने दर्शकों का मनोरंजन दंगल चैनल पर बनाए रखा है। पौराणिक शो ने दो टेलीविजन सितारों, गुरमीत चौधरी और देबिना बनर्जी को जन्म दिया जो अपने ऑन स्क्रीन अवतार भगवान राम और माँ सीता के लिए जाने जाते हैं।

सेट से एक किससे के बारे में पूछे जाने पर, देबिना बनर्जी ने कहा कि “शूट के दो खूबसूरत वर्षों को संक्षेप में प्रस्तुत करना मुश्किल है क्योंकि हरपल यादगार था। अब इस शो को देखना एक खूबसूरत स्मृति की तरह है।

मुझे स्पष्ट रूप से याद है कि जब मैंने पहली बार सीता के रूप में और एक वनवासी के रूप में कपड़े पहने, तब वहाँ वैनिटी वैन की कमी थी और गर्मी काफ़ी ज़्यादा थी पर यह कभी भी तकलीफ़ के तौर पर नहीं देखा गया था क्योंकि वह हमारा पहला काम था।

अब जब सभी सेट पर मौजूद वैनिटी वैन देखती हूँ, तो यह मुझे एक लक्जरी लगता है, जो हमारे पास नहीं था, फिर भी हम इस तरह का एक शानदार शो बनाने में कामयाब रहे।

हम व्यावहारिक रूप से एक वास्तविक जंगल के अंदर शूटिंग करते थे, जहां हमें चलकर जाना पड़ता था। वहां जंगल के बीच में एक वैनिटी वैन होना असंभव था।” देबिना ने अपने हिंदी उपन्यास पर काम करने के बारे में बात करते हुए कहा, “मुझे भाषा का इस्तेमाल करने में कुछ महीने लग गए क्योंकि हम हिंदी में बोलते थे और चरित्र में एक अलग तरह की बॉडी लैंग्वेज थी।

शुरू में, मैं बस हंसती रहती थी क्यूँकि यह सब मेरे लिए बहुत नया था।” देबिना ने इस शो के लिए दिन में लगभग 17-18 घंटे शूटिंग की। वह कहती है, “यह मेरे स्वास्थ्य पर कोई असर नहीं डालता था क्योंकि हम सभी युवा थे। जब आप अपनी नौकरी से प्यार करते हैं तो मुझे नहीं लगता कि समय की बात होनी चाहिए” देबिना बनर्जी ने कहा।

मनोरंजन की ताज़ातरीन खबरों के लिए Gossipganj के साथ जुड़ें रहें और इस खबर को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और हमें Twitter पर लेटेस्ट अपडेट के लिए फॉलो करें।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like