दंगल टीवी के सितारों के मुताबिक साल 2020 एक शिक्षक था

मुंबई, 29 दिसंबर 2020: 2020 सभी के लिए मुश्किल था। लेकिन यह एक साल है जिसका हमें आभारी होना चाहिए। इसने हमें बहुत कुछ सिखाया है और हमें उन छोटी चीजों के लिए समय दिया है जिन्हें हम अन्यथा अनदेखा करते थे। दंगल टीवी के कलाकारों ने महामारी के अपने अनुभव को साझा किया और २०२०  ने उन्हें क्या सिखाया यह बताया।

 “सबसे बड़ी सीख यह है कि कुछ भी स्थायी नहीं है। जीवन में छोटी चीजें बहुत मायने रखती हैं। मैंने लॉकडॉउन का उपयोग खाना पकाना सीखने के लिए किया। मुझे पहले चाय तक बनाना नहीं आती थी, लेकिन अब मैं बैंगन का भरता, वाइट सॉस पास्ता, पनीर मंचूरियन और भी बहुत सी चीजें बना सकती हूं। मैंने ध्यान और योग भी किया और अपने शरीर के साथ-साथ दिमाग पर भी काम किया। मैंने अपने दिमाग को सक्रिय रखने के लिए ऑनलाइन शतरंज भी खेली।”

टीना फिलिप

“2020 ने मुझे विनय से समर्पण करना सिखाया। इसने मुझे जीवन में कुछ वक्त के लिए धीमे चलना और अपने जीवन के बारे में सोचना सिखाया। इसने मुझे सिखाया कि कुछ चीजें मेरे नियंत्रण से बाहर हैं और चाहे कुछ भी हो मेरा स्वास्थ्य, मानसिक कल्याण और मेरे आसपास के लोग हमेशा प्रथम रहेगा हैं। २०२० ने मुझे निश्चित रूप से एक बेहतर इंसान बनाया हैं क्योंकि मुझे अपने आस पास के लोगों को समझने का और निस्वार्थ भाव से उनकी सेवा करने का मौका मिला।”

अचरर भारद्वाज

“2020 ने मुझे अपनी सेहत का ख्याल रखना, अनुशासित रहना, अपने घर को साफ रखना, अपने वातावरण को साफ रखना और जरूरतमंद लोगों की मदद करना सिखाया। और मैं अपने आप को भाग्यशाली महसूस करती हूं कि मुझे शशि सुमीत प्रोडक्शंस के साथ दंगल टीवी के ऐ मेरे हमसफर में काम करने का मौक़ा मिला । यह मेरे लिए एक बहुत ही खूबसूरत साल रहा।”

नीलू वाघेला

“2020 ने मुझे सिखाया कि कैसे दूसरों के लिए बलिदान करें और स्वार्थी न बनकर, दूसरों की सहायता करें। मैंने 2020 में बहुत से सामाजिक कार्य किए। मैंने 2 लाख लोगों को घर का बना खाना खिलाया। आत्मनिर्भर होकर अपने सपनों को पूरा करना और जीवन में नई चीजों सीखने की सीख भी मिली। इस वर्ष ने जीवन में परिवार का महत्व भी सिखाया।”

ऋषिना कंधारी

“2020 मेरे लिए एक छुट्टी के रूप में शुरू हुआ जब मैंने 3 जगाहें घूमी। 1 मार्च को आखिरी बड़ी पार्टी मेरी जन्मदिन की पार्टी थी और फिर सब कुछ बंद हो गया। मुझे अपने आप पर काम करने का मौका मिला। मेरे लिए सबसे बड़ी उपलब्धि एक कोर्स था जिसे मैंने आत्महत्या रोकथाम जागरूकता के लिए एक द्वारपाल बनने के लिए किया। 2020 उन लोगों के लिए एक बुरा वर्ष रहा है जिन्होंने परिवार को खो दिया और आर्थिक नुकसान सहन किया। सभी के लिए मेरा यही संदेश है कि जीवन ऐसा ही होता है! और हम सब एक चलती बस में खिड़की से बाहर देखते हुए बैठे हैं ।”

अरिह अग्रवाल

तो कैसा रहा आपका साल?

सभी को नय साल की बहुत-बहुत शुभकामनाएं।

मनोरंजन की ताज़ातरीन खबरों के लिए Gossipganj के साथ जुड़ें रहें और इस खबर को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और हमें Twitter पर लेटेस्ट अपडेट के लिए फॉलो करें।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like