कॉमेडी एक्टर नीरज वोरा का निधन, लंबे समय से थे कोमा में

कॉमेडी एक्टर नीरज वोरा का निधन, लंबे समय से थे कोमा में , बॉलीवुड के लिए और फैन्स के लिए यह दुःख की घड़ी है क्योकि कॉमेडी एक्टर नीरज वोरा अब हमारे बीच नहीं रहे। एक्टर-डायरेक्टर नीरज वोरा का गुरुवार की सुबह 4 बजे मुंबई के क्रिटी केयर अस्पताल में निधन हो गया।

पिछले साल अक्टूबर में उन्हें हार्ट अटैक और ब्रेन स्ट्रोक आया था। इसके बाद उन्‍हें दिल्ली स्थित एम्स में एडमिट कराया गया था, वहां नीरज कोमा में चले गए थे और उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था। नीरज पिछले 10 महीने से कोमा में थे।

एम्स से उन्हें उनके दोस्त फिल्म निर्माता फिरोज नाडियाडवाला के घर शिफ्ट कर दिया गया था। फिरोज नाडियाडवाला नीरज की सारी जिम्‍मेदारी उठा रहे थे।

नीरज की अच्छी तरह देख-रेख के लिए फिरोज ने जुहू स्थित अपने बंगले के एक कमरे को ICU में बदल दिया था। मार्च 2017 से ही 24 घंटे एक नर्स, वॉर्ड बॉय और एक कुक नीरज के साथ रहते थे, इसके अलावा फ़िज़ियोथेरपिस्ट, न्यूरो सर्जन, ऐक्यूपंगक्चर थेरपिस्ट और जनरल फिजिशन समय-समय पर नीरज का इलाज कर रहे थे।

नीरज ने ‘फिर हेराफेरी’ और ‘खिलाड़ी 420’ जैसी सफल फिल्मों का निर्देशन किया था। नीरज वोरा सिर्फ एक अच्छे एक्टर ही नहीं बल्कि राइटर भी थे। उन्होंने ‘रंगीला’, ‘अकेले हम अकेले तुम’, ‘ताल’, ‘जोश’, ‘बदमाश’, ‘चोरी चोरी चुपके चुपके’ और ‘आवारा पागल दीवाना’ जैसी फिल्‍मों के संवाद लिखे थे।

नीरज ‘हेराफेरी 3’ की स्क्रिप्ट और निर्देशन पर काम कर रहे थे, लेकिन बीमारी के चलते इसमें रुकावट आ गई थी। इसके अलावा फिर हेराफेरी और खिलाड़ी 420 नाम की फिल्मों का निर्देशन भी किया था। वे थिएटर में भी सक्रिय थे। उन्होंने गुजराती प्ले0 आफ्टरनून भी किया था।

बताया जा रहा था कि वह पैसों की तंगी से भी जूझ रहे थे। अभिनेता परेश रावल ने ट्वीट कर उनके निधन पर दुःख व्यक्त किया है। कलाकार की ज़िंदगी में सबसे बड़ी दिक्कत पैसों की ही आती है जिससे वो उबर नहीं पाता।

मनोरंजन की ताज़ातरीन खबरों के लिए Gossipganj के साथ जुड़ें रहें और इस खबर को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और हमेंTwitterपर लेटेस्ट अपडेट के लिए फॉलो करें।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like