‘लिपस्टिक अंडर माई बुरका’ को फंसा दिया सेंसर बोर्ड ने

‘लिपस्टिक अंडर माई बुरका’ को फंसा दिया सेंसर बोर्ड ने , सेंसर बोर्ड ने फिल्म ‘लिपस्टिक अंडर माई बुरका’ को प्रमाण पत्र देने से इन्कार कर दिया है। फिल्म की निर्देशक अलंकृता श्रीवास्तव ने इस फैसले को महिलाओं के अधिकारों का हनन बताया है। उन्होंने कहा कि दर्शकों तक इस फिल्म को पहुंचाने के लिए वे हरसंभव कदम उठाएंगी।

निर्देशक अलंकृता ने कहा, ‘मैं सेंसर बोर्ड के फैसले से न हारी हूं और न ही निराश हूं, बल्कि अपनी फिल्म को भारतीय दर्शकों तक पहुंचाने के प्रति और अधिक दृढ़ हुई हूं।’

कोंकणा सेन शर्मा और रत्ना पाठक अभिनीत फिल्म में भारत के एक छोटे से शहर की अलग-अलग आयु वर्ग की चार महिलाओं की महत्वाकांक्षाओं का ताना-बाना बुना गया है।फिल्म निर्माता प्रकाश झा को लिखे पत्र में सेंसर बोर्ड ने कहा कि महिला केंद्रित फिल्म में कई आपत्तिजनक दृश्य और गालियां हैं। इसमें समाज के वर्ग विशेष के हिसाब से संवेदनशील मसले को भी छुआ गया है।

मनोरंजन की ताज़ातरीन खबरों के लिए Gossipganj के साथ जुड़ें रहें और इस खबर को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और हमें Twitter पर लेटेस्ट अपडेट के लिए फॉलो करें।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like