स्वरा भास्कर: समान अनुभूति की ज़रूरत है लेकिन लोग अनदेखा कर रहे हैं

0
100
स्वरा भास्कर

स्वरा भास्कर अपनी दो टूक बातों के लिए जानी जाती हैं। अब बॉलीवुड अभिनेत्री स्वरा भास्कर का कहना है कि दुनिया को समान अनुभूति की भावना को अनदेखा करते देखना दु:खद है। स्वरा ने कहा, ‘दुनिया को इस समय समान अनुभूति की भावना की जरूरत है। यह दुख की बात है कि हम इस भावना को अनदेखा कर रहे हैं।’

टेलीविजन चैनल स्टार प्लस पर पहली बार हिंदी में ‘टेड टॉक्स इंडिया नई सोच’ के साथ सुपरस्टार शाहरुख खान (शो के मेजबानी) लोगों से अपने विचारों को फैलाने का आग्रह करेंगे। ‘निल बटे सन्नाटा’ और ‘अनारकली ऑफ आरा’ जैसी फिल्मों में सशक्त भूमिकाएं निभा चुकीं स्वरा ने कहा, ‘मैं चाहती हूं कि कि लोग सवाल पूछने से न डरें। उत्सुकता गलत नहीं है। मुझे लगता है कि सवाल पूछना आगे बढ़ने के लिए जरूरी है।’

इसे भी पढ़िए:   तू मेरा भाई नहीं है का टीजर रिलीज, दोस्तों की लड़ाई पर है गाना

उन्होंने शाहरुख खान को उनके नए शो के लिए शुभकामनाएं दीं और कहा कि उन्हें इस शो का बेसब्री से इंतजार है। इस शो का प्रसारण रविवार को होगा। बता दें कि स्वरा अक्सर कई सामाजिक मुद्दों को लेकर काफी मुखर रहती हैं।

इसे भी पढ़िए:   99 सॉन्ग्स फिल्म के लिए हुआ 1000 लोगों का ऑडिशन, ए आर रहमान की फिल्म

इससे पहले स्वरा भास्कर ने राजस्थान के उदयपुर में एक अधेड़ शख्स को जिंदा जलाए जाने और उसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मणिशंकर अय्यर के बीच बहस को लेकर अप्रत्यक्ष रूप से निशाना साधा है। स्वरा ने अपने ट्विटर हैंडस से लिखा- भगवा आतंकियों द्वारा लव जिहाद जैसे झूठ के नाम पर एक शख्स को जिंदा जला दिया गया और लोगों में दो राजनेताओं के बीच हुए झगड़े को लेकर ज्यादा गुस्सा है… यह एक देश के बारे में बहुत कुछ कहता है, है कि नहीं??? स्वरा के इस ट्वीट को हजारों लोगों ने लाइक और शेयर किया।

इसे भी पढ़िए:   श्रुति हासन को लिखना पसंद है और अब वो राइटिंग में भी हाथ आजमाएंगी

वहीं स्वरा भास्कर फीमेल सेक्सुअलिटी के मुद्दे पर भी अपनी राय रख चुकी हैं। वैसे बॉलीवुड में आमतौर पर हिरोइनें फीमेल सेक्शुअलिटी पर बात करने से कतराती हैं। लेकिन स्वरा के साथ ऐसा नहीं है। स्वरा का कहना है कि उन्हें अपनी सेक्शुअलिटी को लेकर कोई पछतावा नहीं है।

LEAVE A REPLY

twelve + seven =