Gossipganj
Film & TV News

सूबेदार जोगिंदर सिंह का फर्स्ट लुक रिलीज़, ज़बरदस्त दिख रहे हैं गिपी ग्रेवाल

1

सूबेदार जोगिंदर सिंह का फर्स्ट लुक रिलीज़, ज़बरदस्त दिख रहे हैं गिपी ग्रेवाल , बॉलीवुड में इन दिनों जीवनी पर आधारित फिल्मों का चलन जोरों पर है। इसी क्रम में परमवीर चक्र से सम्मानित सूबेदार जोगिंदर सिंह पर बायोपिक का फर्स्ट लुक रिलीज हो गया है। पंजाबी सिनेमा के जाने-माने अभिनेता और गायक गिपी ग्रेवाल फिल्म में जोगिंदर सिंह का किरदार निभा रहे हैं। गिप्पी इस लुक में एकदम फरफेक्ट लग रहे हैं। पंजाबी सिनेमा के जाने-माने अभिनेता और गायक गिपी ग्रेवाल फिल्म में जोगिंदर सिंह का रोल निभा रहे हैं।

सागा म्यूज़िक एवं सेवेन कलर्स मोशन पिक्चर्स के बैनर तले बनी इस फिल्म में गिपी ग्रेवाल के अलावा अदिति शर्मा मुख्य भूमिका में हैं। सिमरजित सिंह ने फिल्म का निर्देशन किया है। अगले साल 6 अप्रैल को दुनिया भर में ये फिल्म रिलीज होने वाली है। इसे हिंदी, तेलुगू और तमिल भाषा में भी डब किया गया है।  1962 में हुए भारत-चीन युद्ध में अहम भूमिका निभाने वाले सूबेदार जोगिंदर सिंह को भुलाया नहीं जा सकता है। वह 15 सितंबर 1941 को सिख रेजिमेंट में भर्ती हुए थे। 23 अक्टूबर 1962 को भारत-चीन युद्ध के दौरान बहादुरी से दुश्मन से लड़ते हुए वह शहीद हो गए थे।

जोगिंदर सिंह का जन्म 26 सितंबर 1921 को पंजाब के फरीदकोट में हुआ था। 15 सितंबर 1941 को वे सिख रेजिमेंट में भर्ती हुए थे, 23 अक्टूबर 1962 को भारत-चीन युद्ध के दौरान बहादुरी से दुश्मन से लड़ते हुए वह शहीद हो गए थे। भारत-चीन युद्ध के दौरान दुर्गम क्षेत्र नेफा में अपनी पोज़िशन लेने के कुछ समय बाद ही उन्हें  हजारों चीनी सैनिकों के आक्रमण का सामना करना पड़ा। सूबेदार जोगिन्दर सिंह ने इस युद्ध में गोला-बारूद ख़त्म होने और जांघ पर गोली लगने के बावजूद भी अपने सैनिकों को लड़ाई के लिए प्रेरित किया, बल्कि खुद भी अकेले ही कई चीनी सैनिकों को मौत के घाट उतार दिया।

सूबेदार जोगिंदर सिंह ने जितनी भूमिका देश के स्‍वतंत्रता के आंदोलन में निभाई, उतनी ही आजादी के बाद भी देश की रक्षा की। वह शहीद होने से पूर्व 1962 में चीन के साथ हुई लड़ाई में शामिल हुए थे। सुबेदार जोगिंदर उस समय वे एक पलटन के कमांडर थे। 1962 के युद्ध में उनके संघर्ष को भुलाया नहीं जा सकता है।

इस अभूतपूर्व शौर्य के प्रदर्शन के लिए भारत सरकार द्वारा उन्हें मरणोपरांत राष्ट्र के सर्वोच्च युद्ध सम्मान ‘परमवीर चक्र’ से नवाज़ा गया। इस फिल्म के लिए गिप्पी ग्रेवाल ने काफी मेहनत की है। उन्होंने अपने किरदार को सशक्त तरीके से निभाने के लिए पहाड़ की दुर्गम चोटियों पर भी शूटिंग की और कई चक्कर घायल भी हुए। शूट के दौरान पहाड़ पर फिसलने से घायल भी हो गये। इस फिल्म में खुद को सूबेदार के जैसा दिखाने के लिए उन्होंने बॉडी भी बनाई। फिल्म के ज़्यादातर स्टंट्स गिप्पी ने खुद ही किए हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.