यौन शोषण करने वाले को बॉलीवुड में बेनकाब कर दूं, तो मेरी सुरक्षा कौन करेगा

0
712
यौन शोषण

यौन शोषण करने वाले को बॉलीवुड में बेनकाब कर दूं, तो मेरी सुरक्षा कौन करेगा , दो दिन पहले ऋचा चड्ढा ने यौन शोषण पर अपनी बात रखते हुए कहा कि जो प्रोड्यूसर और डायरेक्टर महिलाओं पर फिल्में बनाते हैं और अपने आपको प्रगतिशील दिखलाना चाहते हैं वो सब बर्बाद हो जाएंगे। उन्होंने आगे कहा कि यदि हॉलीवुड जैसे चीजें बॉलीवुड में आना शुरू हो जाएंगी तो सब कुछ बदल जाएगा। फुकरे 2 में बिंदास भोली पंजाबन का रोल निभाने वाली ऋचा ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा कि यदि बॉलीवुड में यौन शोषण की बात करेंगे तो हम बहुत सारे हीरो और दूसरे लोग अपना काम ही नहीं बल्कि विरासत भी खो देंगे। ऋचा सामाजिक मुद्दों पर अपनी बेबाक राय रखने के लिए काफी मशहूर हैं।

इसे भी पढ़िए:   कमाई के मामले में रईस है काबिल से ज्यादा रईस

बॉलीवुड ऐक्ट्रेस ऋचा चड्डा ने कहा है कि बॉलिवुड में यौन उत्पीड़न होता है, इस बात को स्वीकार करना साहस की बात है लेकिन ऐसा करने वालों का नाम नहीं लिया जा सकता क्योंकि उसके बाद काम मिलने की गारंटी नहीं होती। ऋचा ने कहा कि यौन उत्पीड़न स्थिति से संबंधित ब्लॉग पोस्ट के लिए उनपर निशाना साधा गया। यहां तक कि नारीवादी रुझान वालों ने भी पूछा कि आप ऐसा करने वालों का नाम क्यों नहीं ले रही हैं।

इसे भी पढ़िए:   रोहित रॉय का बयान, मुझे दुख है कि मैं भारत में रहता हूं, पद्मावती विवाद

रिचा ने एक इंटरव्यू में कहा, ‘अगर आप मुझे जिंदगी भर पेंशन दें, मेरी सुरक्षा सुनिश्चित करें और मेरे परिवार का खयाल रखें, यह भी सुनिश्चित करें कि मुझे फिल्मों और टीवी में काम मिलता रहेगा या मैं जो भी करना चाहूं करती रहूं, मेरा करियर निर्बाध बढ़ता रहे तो मैं अभी नाम लूंगी, वाकई ऐसा करूंगी । उन्होंने कहा, ‘केवल मैं ही नहीं और भी लोग ऐसा करेंगे लेकिन कौन ऐसा करेगा?’ अदाकारा का मानना है कि फिल्म इंडस्ट्री में इस तरह की व्यवस्था नहीं है जिससे कि पीड़ितों को सुरक्षा मिले।

इसे भी पढ़िए:   16 साल की नाहिद के खिलाफ 46 मौलवियों ने जारी किए फतवे

उन्होंने कहा, ‘हर बार जब कोई बोलता है तो प्रतिक्रिया होती है तो नाम बताने को कहा जाता है। अगर प्रेस को पता है कौन यह कर रहा है तो क्यों नहीं बताते। जब भी हम एक कदम उठाते हैं तो प्रतिक्रिया होती है। इंडस्ट्री की व्यवस्था और ढांचे को बदलने की जरुरत है। समुचित कानून के अभाव में कौन लेगा जोखिम?’

LEAVE A REPLY

5 + sixteen =