सबा कमर को सिर्फ मां बनाने के लिए काम दे दिया हिन्दी मीडियम में , हिंदी मीडियम’ में इरफ़ान ख़ान की बीवी के रोल में पाकिस्तानी एक्ट्रेस सबा क़मर हैं। फ़िल्म के डायरेक्टर साकेत चौधरी ने खुलासा किया है कि फ़िल्म में किसी बॉलीवुड एक्ट्रेस को कास्ट क्यों नहीं किया।  सबा का ये बॉलीवुड डेब्यू है और फ़िल्म में वो एक बच्ची की मां भी बनी हैं। साकेत चौधरी ने कहा है ‘किसी किरदार में फिट होने के लिए आप किसी ख़ास शख़्स को ही देखते हैं। कई स्थापित अभिनेत्रियां, जो पर्दे पर मां का रोल नहीं करना चाहतीं। यहां ये मुद्दा था। मुझे ‘शादी के साइड इफ़ेक्ट्स‘ के वक़्त से ही ये अनुभव होता रहा है।’

इसे भी पढ़िए:   आलिया भट्ट आज की जनरेशन की सबसे हॉट एक्ट्रेस हैं, तस्वीर देखिए

सबा कमर को सिर्फ मां बनाने के लिए काम दे दिया हिन्दी मीडियम में

‘शादी के साइड इफ़ेक्ट्स’ में फ़रहान अख़्तर और विद्या बालन ने लीड रोल्स निभाए थे। ‘प्यार के साइड इफ़ेक्ट्स’ 2006 में आई थी। साकेत कहते हैं, “सात-आठ साल का अंतर इसी वजह से हुआ। कास्टिंग के लिए काफी जूझना पड़ा। विद्या साहसी अदाकारा हैं। उन्हें कोई समस्या नहीं थी, मगर दूसरों को होती है। मैं हिंदी मीडियम के साथ वही होते हुए नहीं देखना चाहता था।”

इसे भी पढ़िए:   सपना दीदी का नाम बदला जाएगा, जानिए फिर फिल्म का नाम क्या होगा?

सबा कमर को सिर्फ मां बनाने के लिए काम दे दिया हिन्दी मीडियम में

साकेत बताते हैं कि सबा के व्यक्तित्व में वो सब ख़ूबियां हैं, जो इस किरदार के लिए ज़रूरी थीं। हालांकि पाकिस्तान के साथ एक बार फिर बिगड़े हालातों के मद्देनज़र ‘हिंदी मीडियम’ में सबा का होना चिंता की वजह बन सकता है।

इसे भी पढ़िए:   बद्रीनाथ की दुलहनिया में नए अवतार में दिखाई देंगी आलिया भट्ट

सबा कमर को सिर्फ मां बनाने के लिए काम दे दिया हिन्दी मीडियम में

साकेत बताते हैं कि उन्हें इस समस्या का सामना तब से करना पड़ा है, जब वो ‘शादी के साइड इफ़ेक्ट्स’ के लिए कास्टिंग कर रहे थे। चौंकाने वाली बात ये है कि इस फ़िल्म में फ़ीमेल लीड फ़ाइनल करने में आठ साल का लंबा अर्सा लग गया, क्योंकि कोई बड़ी एक्ट्रेस फ़िल्म में मां का रोल निभाने को तैयार नहीं थी।

 

LEAVE A REPLY

four × 4 =