Gossipganj
Film & TV News

इतिहास पर फिल्में बनाने वाले आशुतोष कभी फेल हो जाते थे हिस्ट्री में

1

इतिहास पर फिल्में बनाने वाले आशुतोष कभी फेल हो जाते थे हिस्ट्री में, फि‍ल्‍मी पर्दे पर दर्शकों को इतिहास दिखाने वाले डायरेक्‍टर आशुतोष गोवारिकर खुद इतिहास में फेल हुआ करते थे। आपको जानकार हैरानी होगी लेकिन सच यही है कि गोवारिकर स्‍कूल के दिनों में अक्‍सर हिस्‍ट्री में ही फेल हुआ करते थे। अपने बेहतर निर्देशन के लिए पहचाने जाने वाले आशुतोष इतिहास में इतने कमजोर थे कि उन्हें तारीखें याद नहीं रहती थीं। आशुतोष को कभी भी इतिहास में दिलचस्‍पी नहीं रहीं। लेकिन फिल्म लाइन उन्हें इतिहास के करीब ले आई।

आशुतोष ने अपने फिल्मी सफर की शुरुआत बतौर एक्टर की थी। उन्होंने पहली बार केतन मेहता की फिल्म ‘होली’में कैमरा फेस किया। इसके बाद उन्होंहने कई और फिल्मों में काम किया इनमें ‘चमत्कार’,‘कभी हां कभी ना, ‘कच्ची धूप’और ‘नाम’ जैसी फिल्में  शामिल हैं। एक्टिंग की बात करें तो आशुतोष टीवी पर शाहरुख के साथ भी एक शो कर चुके हैं।

आशुतोष बॉलीवुड के बादशाह के सुपरहिट शो सर्कस में उनके साथ नजर आए थे। इस शो में आशुतोष विक्की नाम के किरदार में थे। लेकिन एक्टिंग में उन्हें सफलता नहीं मिली। साल 1993 में उन्होंने डायरेक्शन की दुनिया में कदम रखा। उनकी पहली फिल्म‘पहला नशा’थी।

आशुतोष ने हमेशा से ऐसे विषयों पर फिल्में बनाना पसंद किया है, जिनके बारे में सिर्फ इतिहास की किताबों में ही पढ़ा गया हो। फिर चाहें वह ‘लगान’ हो ‘जोधा अकबर’ हो या फिर ‘मोहनजोदाड़ो’ ये अलग बात है कि उनकी कई फिल्‍में असफल साबित हुईं। डायरेक्शन में बुरे दौर से गुजरे आशुतोष एक फ्लॉप एक्टर भी रह चुके हैं।

आशुतोष के डायरेक्शन में बनी ‘लगान’फिल्‍म को बहुत तारीफ मिली। आजादी के पहले लगान से बचने के लिए अंग्रेजों और भारतीयों के क्रिकेट मैच पर आधारित इस फिल्म ने उन्‍हें ऑस्‍कर की रेस तक पहुंचा दिया। हालांकि ये अफसोस की बात थी कि फिल्‍म नॉमिनेट होने के बाद ऑस्‍कर जीत नहीं सकी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.