भाभी गीता बाली मानती थीं शशि कपूर को बच्चे की तरह, शशि थे उनके करीब

0
158
भाभी

भाभी गीता बाली मानती थीं शशि कपूर को बच्चे की तरह, शशि थे उनके करीब , शशि कपूर भाभी गीता बाली के तो वह दुलारे थे। शादी के बाद शशि को कोई भी बात मनवानी होती थी तो वह शम्मी भईया से पहले भाभी को ही कहते थे। शशि कार के शौक़ीन थे और एक वक़्त जब उनकी बहुत चाहत हुई कि वह कोई नयी कार लें तो वह भाभी के पास गए। गीता ने कहा कि आप जाकर भाई शम्मी को बोलिए कि मैंने आपको भेजा है और आपको वह कार के लिए पैसे भेज दें। ऐसे में जब शशि भाई के पास पहुंचे तो पहले तो शम्मी तैयार नहीं हुए लेकिन चूंकि वह गीता की बात से इनकार नहीं करते थे इसलिए उन्होंने शशि को कार खरीदने के लिए पैसे दे दिये।

इसे भी पढ़िए:   महिला फैन के साथ ऋषि कपूर ने किया ऐसा काम कि शर्मिदा हुए रणबीर कपूर!

जब शशि और जेनिफ़र एक दूसरे से प्यार करने लगे थे तो शशि ने गीता ने सारी बातें शेयर की थीं और फिर परिवार के लोगों से यह बात गीता ने ही बताई थी। यही नहीं खुद गीता मुंबई से ऊटी उनकी शादी में शामिल होने पहुंची थीं। गीता बाली शशि को लेकर काफी प्रोटेक्टिव थीं। वह उनके साथ कभी मां तो कभी दोस्त की तरह बर्ताव करती थीं।

इसे भी पढ़िए:   कमाल के शख्स थे शशि कपूर, शम्मी कपूर के पैसों से ही उनको महंगा गिफ्ट थमा दिया

शशि कपूर ने थियेटर की दुनिया में भी एक अलग मुकाम हासिल किया। शशि कपूर स्टालिश माने जाते थे, क्योंकि वह हमेशा सेट पर फ्रेश नज़र आते थे और वेल ड्रेस्ड रहते थे।शशि ने हमेशा अपनी बातचीत में यह बात स्वीकारी है कि जिस दौर में उनकी फिल्में कामयाब नहीं हो रही थीं, तब उनके साथ कोई अभिनेत्री काम नहीं करना चाहती थीं। उस वक़्त नंदा ने उनके साथ ‘जब जब फूल खिले’ में काम किया।

इसे भी पढ़िए:   करण नाथ जिसकी पहली फिल्म हिट रही बाकी फ्लॉप, डिप्रेशन में चले गए थे करण

LEAVE A REPLY

two × five =