Gossipganj
Film & TV News

महेश बाबू | तेलगू के सुपरस्टार महेश बाबू तेलगू समझ तो सकते हैं लेकिन लिख नहीं सकते

0 694

महेश बाबू | तेलगू के सुपरस्टार महेश बाबू तेलगू समझ तो सकते हैं लेकिन लिख नहीं सकते, साउथ सुपरस्टार महेश बाबू 9 अगस्त को 43वां जन्मदिन मना रहे हैं। महेश का साउथ में रुतबा ठीक वैसा ही है जैसा बॉलीवुड में सलमान और शाहरुख का। महेश मशहूर एक्टर कृष्णा के बेटे हैं यानी कि बचपन से ही महेश का लालन पोषण उस माहौल में हुआ जिसका जुड़ाव सिनेमाजगत से था। तो चलिए महेश के जन्मदिन पर हम आपको उनसे जुड़े कुछ अनसुने किस्से बताते हैं। महेश का जन्म चेन्नई में हुआ है लेकिन उन्होंने कभी भी विषय के तौर पर तेलुगु भाषा को नहीं लिया था। महेश तेलुगु भाषा को अच्छी से समझ और बोल तो सकते हैं लेकिन पढ़ नहीं सकते। वह डायरेक्टर से डायलॉग को सुनते है और फिल्म उसे फिल्मों में इस्तेमाल करते हैं।

बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट महेश ने 9 फिल्मों में काम किया है। आखिरी रिलीज फिल्म ‘अन्ना थमुडू’ (1990) के बाद महेश बाबू ने पिता के कहने पर 9 साल तक फिल्मों से दूरी बना ली। ऐसा इसलिए क्योंकि महेश के पिता चाहते थे कि वह अपनी पढ़ाई में पूरी तरह से ध्यान दें। 9 साल तक फिल्मों से दूरी बनाने के बाद महेश ने बतौर लीड एक्टर साल 1999 में ‘राजा कुमारुदु’ फिल्म से बॉलीवुड में एक्टिंग करियर की शुरुआत की। इस फिल्म में महेश बाबू के साथ प्रीती जिंटा थी। इस फिल्म को के राघवेन्द्र राव ने डायरेक्ट किया था। इस फिल्म के लिए महेश बाबू को ‘नंदी अवॉर्ड फॉर बेस्ट मेल’ डेब्यू मिला था।

साल 1979 में महेश बाबू तेलुगु फिल्म ‘नीदा’ के सेट पर गए थे। उस वक्त फिल्म डायरेक्टर दसारी नारायम राव ने छोटे से महेश के साथ फिल्म के कुछ सीन्स शूट किए थे। इस तरह से महज 4 साल की उम्र में महेश बाबू ने तेलुगु फिल्म इंडस्ट्री में डेब्यू किया था। महेश बाबू ने चेन्नई के सेंट बेडे एंग्लो इंडियन हाइयर सेकेंडरी स्कूल से पढ़ाई की थी। महेश बाबू के साथ इसी स्कूल में तमिल एक्टर कार्थी और सूर्या के भाई ने भी पढा़ई की थी। साल 2003 में महेश की रिलीज हुई फिल्म ‘ओकाडू’ साल की सबसे बड़ी हाईएस्टर ग्रोसिंग तेलुगु फिल्म थी। इस फिल्म के लिए महेश बाबू को बेस्ट एक्टर फिल्मफेयर अवॉर्ड मिला था।

फिल्म ‘अथाडू’ के बाद महेश ने फिल्मों से चार महीने का ब्रेक लिया। इन चार महीनों में महेश ने अपने बालों को बढा़या। अपने लुक में महेश ने बदलाव ‘पोकिरी’ फिल्म के लिए किया। इस फिल्म को पुरी जगन्नाध ने डायरेक्ट किया था। साल 2006 में रिलीज फिल्म का बजट 100 मिलियन था। ‘पोकिरी’ फिल्म तेलुगु की अब तक की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म है। स्टाइल और लुक के मामले में भी महेश बाबू किसी से कम नहीं है। साल 2013 में महेश ने शाहरुख,आमिर और सलमान को पीछे छोड़कर पहले स्थान पर कब्जा जमाते हुए टाइम्स के मोस्ट डिजाइरेबल मैन बन गए थे।

महेश को-एक्ट्रेस नम्रता शिरोडकर को ‘वामसी’ फिल्म की शूटिंग के दौरान से ही डेट कर रहे थे। यह बात साल 2002 की है। 4 साल के अफेयर के बाद नम्रता और महेश बाबू ने शादी करने का फैसला किया। इन दोनों की शादी 10 फरवरी 2005 को हुई थी। महेश ने न केवल एक्टिंग बल्कि गायकी में भी हाथ आजमाया है। महेश ने ‘जलसा’ और ‘बादशाह’ फिल्म के लिए अपनी आवाज दी है। इसके साथ ही अपनी फिल्म बिजनेसमैन के लिए गाना भी गाया है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Loading...