Gossipganj
Film & TV News

जीवन जिन्होंने बॉलीवुड में आन स्क्रीन विलेन को एक नायाब जीवन दिया

0 335

जीवन जिन्होंने बॉलीवुड में आन स्क्रीन विलेन को एक नायाब जीवन दिया , बॉलीवुड की 70 और 80 के दशक की फिल्मों में विलेन का किरदार निभाकर फेमस होने वाले एक्टर जीवन की आज 102वीं बर्थ एनिवर्सरी है। उनका निधन 1987 में 71 साल की उम्र में हो गया था। जीवन का नाम लेते ही उनकी विलेन की छवि सामने आ जाती है। आज उनकी बर्थ एनिवर्सरी है।

उनका जन्म 1915 में कश्मीर में हुआ था। उनका असली नाम ओंकार नाथ धार था। वो बचपन से ही एक्टर बनना चाहते थे। जीवन का परिवार काफी बड़ा था। उनके 24 भाई बहन थे। जन्म के साथ ही उनकी मां का निधन हो गया था। जब वो 3 साल के थे तब उन्होंने अपने पिता को खो दिया था।

वो ऐसे परिवार से थे जहां एक्टिंग के लिए उन्हें इजाजत नहीं मिली थी। इसलिए वो 18 साल की उम्र में घर से भागकर मुंबई आ गए। जब वो मुंबई आए तो उनकी जेब में सिर्फ 26 रुपए थे। करियर के शुरुआती दिनों में उन्हें काफी स्ट्रगल करना पड़ा। उन्हें एक नौकरी की जरूरत थी इसलिए वो एक स्टूडियो में काम करने लगे। ये स्टूडियो मोहनलाल सिन्हा का था।

मोहन लाल उस समय के जाने-माने डायरैक्टर हुआ करते थे। जब मोहनलाल को पता चला कि जीवन एक्टिंग करना चाहते हैं तो उन्होंने अपनी फिल्म ‘फैशनेबल इंडिया’ में रोल दिया। इसके बाद उनको एक के बाद एक कई फिल्मों में काम मिला। अपने करियर के शुरुआती दौर में ही जान गए थे कि उनका चेहरा हीरो लायक नहीं है। इसलिए उन्होंने खलनायकी में हाथ आजमाया और सफल भी हुए। उन्हें जीवन नाम विजय भट्ट ने दिया था। उन्होंने पंजाबी फिल्मों में भी काम किया था। उनके बेटे किरण कुमार भी मशहूर एक्टर हैं।

50 के दशक में बनी हर धार्मिक फिल्म में इन्होंने नारद का रोल किया। जीवन को  पहचान उस समय मिली जब 1935 में उन्होंने फिल्म ‘रोमांटिक इंडिया’ में काम किया। इसके बाद जीवन ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।जीवन की ‘अफसाना’, ‘स्टेशन मास्टर’, ‘अमर अकबर एंथनी’ और ‘धर्म-वीर’ यादगार फिल्मों में से एक हैं। उन्होंने नागिन, शबनम, हीर-रांझा, जॉनी मेरा नाम, कानून, सुरक्षा, लावारिस, आदि फिल्मों में भी अहम भूमिकाएं निभाई।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Loading...