नरगिस दत्त का जन्मदिन है आज, आप भूले तो नहीं….

नरगिस दत्त का आज जन्मदिवस मनाया जा रहा है। 1 जून 1929 के पश्चिम बंगाल के कोलकाता शहर में जन्मीं नरगिस ने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि उन्हें अभिनेत्री बनना है। नरगिस ने तो हर आम बच्चों की तरह एक सपना बुना था…वो डॉक्टर बनना चाहती थीं। उनका डॉक्टर बनने का सपना चकनाचूर हो गया, क्योंकि उनकी मां चाहती थीं कि नरगिस फिल्मों में काम करें।

नरगिस का असली नाम कनीज फातिमा रशीद था। अपने जमाने में नरगिस दत्त ने खूब नाम कमाया। वह पहली ऐसी बॉलीवुड एक्ट्रेस थीं, जो चुनौती वाली भूमिकाओं का चुनाव करती थीं। बॉलीवुड की सबसे सफल अभिनेत्रियों में से एक नरगिस ने सिर्फ 6 साल की उम्र में फिल्म तलाशे हक (1935) से बतौर बाल कलाकर अभिनय अभिनय की दुनिया में कदम रखा था। तब उन्हें बेबी नरगिस के नाम से पुकारा जाता था। 1949 का पूरा साल नरगिस के नाम रहा। इस साल नरगिस की बरसात, अंदाज जैसी कई फिल्में आईं और सभी सुपरहिट रहीं।

नरगिस दत्त को राज कपूर के साथ करीब 55 फिल्मों में काम किया, जो एक रिकॉर्ड है।  साल 1957 में महबूब खान की फिल्म मदर इंडिया ने नरगिस सुनील दत्त की मां कि भूमिका में थीं।  मदर इंडिया की शूटिंग के दौरान सुनील दत्त ने नरगिस को आग से बचाया था। इस घटना के बाद नरगिस ने कहा था कि पुरानी नरगिस की मौत हो गई है और नई नरगिस का जन्म हुआ है। सुनील दत्त के साथ शादी के बाद नरगिस ने फिल्मों में काम करना कम कर दिया।

करीब दस साल के बाद अपने भाई अनवर हुसैन और अख्तर हुसैन के कहने पर नरगिस दत्त ने 1967 में फिल्म रात और दिन में काम किया। इस फिल्म के लिए उन्हें राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया।  वह पहली भारतीय सिनेमा की पहली अभिनेत्री थीं, जिन्हें पद्मश्री पुरस्कार मिला और राज्यसभा सदस्य बनीं। मुंबई के बांद्रा में उनके नाम पर सड़क है। कैंसर से जूझ रहीं नरगिस 03 मई, 1981 को दुनिया से हमेशा-हमेशा के लिए रुखसत हो गईं।

मनोरंजन की ताज़ातरीन खबरों के लिए Gossipganj के साथ जुड़ें रहें और इस खबर को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और हमें Twitter पर लेटेस्ट अपडेट के लिए फॉलो करें।

You might also like