खेसारी लाल यादव जो लिट्टी चोखा बेचते बेचते बन गया भोजपुरी सिनेमा का सुपरस्टार

खेसारी लाल यादव का असली नाम शत्रुघ्न यादव है। 2012 में फिल्म ‘साजन चले ससुराल’ से अपना फिल्मी करियर शुरू करने वाले खेसारी लाल यादव सिर्फ 7 सालों में भोजपुरी सिनेमा के सुपरस्टार बन चुके हैं।

जिस फिल्म में खेसारी होते हैं, उसे देखने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ती है। सोशल मीडिया पर भी खेसारी लाल की धूम रहती है।

यूट्यूब पर उनका गाना रिलीज होते ही, लोग उसे देखने के लिए टूट पड़ते हैं, उनके कई गानों को करोड़ों व्यूज मिलते हैं। उनकी फिल्मों को लोग यूट्यूब पर सर्च कर देखते हैं।

खेसारी लाल यादव जब पैदा हुए तो उनके घरवालों के सिर पर छत तक नहीं थी। उनके पिता दिन में चने बेचते थे और रात में गार्ड की नौकरी करते थे।

तीन भाईयों में सबसे छोटे खेसारी लाल अपने बड़े भाई की पैंट ही शेयर किया करते थे, क्योंकि उनके पास इतने पैसे नहीं थे कि अलग-अलग कपड़े खरीद सकें।

खेसारी लाल के पिता ने अपने बेटे के गायिकी के शौक को पूरा करने के लिए 12 हजार रुपये दिए। जिससे खेसारी ने अपना एलबम बनाया, लेकिन उनकी किस्मत इतनी खराब थी कि वो एलबम फ्लॉप हो गया और उनके पैसे डूब गए।

उसके बाद खेसारी लाल ने अपने पिता के साथ दिल्ली में लिट्टी चोखे की दुकान खोली। खेसारी लाल बीएसएफ की नौकरी भी कर चुके हैं, हालांकि वहां से लो 6 महीने के बाद ही भाग आए और पिता से 15 हजार रुपये लेकर एक और एलबम लेकर आए।

एलबम लोगो को काफी पसंद आया। इसके बाद खेसारी लाल के कई एलबम हिट हुए और वो धीरे-धीरे पूरे देश में पहचाने जाने लगे।

खेसारी लाल यादव की पहली फिल्म ‘साजन चले ससुराल’ थी। हालांकि पहली फिल्म की शूटिंग के दौरान उन्हें काफी दिक्कत आई, क्यों उन्हें एक्टिंग नहीं आती थी।

लेकिन धीरे-धीरे खेसारी भोजपुरी सिनेमा के बड़े नायक बन गए उनकी कई फिल्में सुपरहिट हुईं। जिस खेसारी के पास पहनने के लिए कपड़े नहीं होते थे वो आज करोड़ों कमाते हैं।

खेसारी एक्टिंग के साथ-साथ देश-विदेश में कई शोज भी करते हैं। वो एक फिल्म के लिए 45 से 50 लाख रुपये तक की फीस लेते हैं।

मनोरंजन की ताज़ातरीन खबरों के लिए Gossipganj के साथ जुड़ें रहें और इस खबर को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like