अनुपम खेर का बयान, किसी की बाल्टी से अच्छा है चमचा होना!

अनुपम खेर का बयान, किसी की बाल्टी से अच्छा है चमचा होना! पीएम मोदी और उनकी नीतियों की तारीफ करने वाले अभिनेता अनुपम खेर एक बार फिर अपने बयानों की वजह से चर्चा में आ गए है। हाल ही में अनुपम खेर ने एक टीवी इंटरव्यू के दौरान कहा, ‘किसी की बाल्टी होने से अच्छा है, मोदी का चमचा होना।’ बॉलीवुड ऐक्टर होने के साथ-साथ मोदी सरकार के समर्थक भी जाने जाते हैं। कई बार इस चीज को लेकर उनकी आलोचना भी की जाती है। पिछले साल भी जब उन्हें एफटीआईआई का चेयरमैन बनाया गया तो इसकी वजह उनका मोदी सरकार के करीब होना बताया गया। हाल ही में उन्होंने एक इंटरव्यू के दौरान इन सवालों पर अपनी प्रतिक्रिया दी।

अनुपम ने कहा , मुझे एक दिन पहले स्मृति ईरानीजी का फोन आया कि आपको एफटीआईआई की जिम्मेदारी संभालनी है। मैं इसके लिए तैयार नहीं था। मैं इस जिम्मेदारी को लेने की कोई औपचारिकता नहीं चाहता था, मैं चेयरपर्सन बनने के बाद बिना बताए एफटीआईआई गया। मैं अनुपम खेर का बोझ लेकर वहां नहीं जाना चाहता था।

एक चैनल को दिए इंटरव्यू के दौरान जब अनुपम से पूछा गया कि उनके विरोधी कहते हैं कि वह मोदी सरकार का गुणगान करना चाहते हैं तो जवाब में अनुपम ने कहा, ‘सही कहते हैं, कहने दीजिए। किसी की बाल्टी होने से अच्छा है मोदी का चमचा होना।’ आपको बता दें कि ऐसा पहली बार नहीं है जब अनुपम खेर ने प्रधानमंत्री की तारीफ की हो बता दें कि कश्मीरी पंडितों को लेकर भी अनुपम खेर आवाज उठाते रहे हैं।

अनुपम ने कहा कि हमारे देश में जो भी अपनी जाति या धर्म के बारे में बोलता है, उसे सचेत कर दिया जाता है। उन्होंने अपना कलावा दिखाते हुए कहा, ‘इसे मेरी मां ने लगाया है। यह किसी धार्मिक कारण से नहीं है। मैं ताबीज भी पहनता हूं जो मुझे मुस्लिम पीर ने दिया है। यह है हिन्दुस्तान की असली पहचान।’

You might also like